शीतकालीन सत्र 2021: निलंबन के मुद्दे पर संसद के अंदर और बाहर गतिरोध, धरने पर बैठे निलंबित सदस्य

मनोरंजनशीतकालीन सत्र 2021: निलंबन के मुद्दे पर संसद के अंदर और बाहर गतिरोध, धरने पर बैठे निलंबित सदस्य

नई दिल्ली, एजेंसी। राज्यसभा से विपक्ष के 12 सांसदों के निलंबन के मुद्दे पर संसद में आज भी गतिरोध कायम है। विपक्ष के हंगामे के चलते राज्यसभा की कार्यवाही को 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया है। वहीं, निलंबन रद्द करने की मांग को लेकर विपक्षी नेता संसद परिसर में महात्मा गांधी की प्रतिमा के सामने विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। इस विरोध प्रदर्शन में कांग्रेस सांसद राहुल गांधी भी शामिल हुए। बता दें कि विपक्ष सांसदों के निलंबन को वापस लेने पर अड़ा हुआ है। उसका तर्क है कि पिछले सत्र में हुई घटना के लिए इस सत्र में निलंबन कानून सम्मत नहीं है, जबकि सत्ता पक्ष ने स्पष्ट कर दिया है कि निलंबित सांसद माफी मांग लें तो सब कुछ ठीक हो जाएगा। वहीं, लोकसभा मेंआज कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रोन पर चर्चा की जाएगी।

राज्यसभा 12 बजे तक के लिए स्थग्त12 निलंबित सांसदों के मुद्दे पर विपक्ष ने राज्यसभा में जमकर नारेबाजी की। हंगामे की वजह से राज्यसभा की कार्यवाही को 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया है।धरने पर बैठे निलंबित सदस्यराज्यसभा के निलंबित विपक्षी सदस्य संसद के शीतकालीन सत्र के शेष भाग के लिए सदन से निलंबन के विरोध में धरने पर बैठे हैं। शीतकालीन सत्र से निलंबित टीएमसी सांसद डोला सेन ने कहा कि सांसदों का निलंबन बहुमत वालों के अहंकार को दर्शाता है। जब वे विपक्ष में थे तो वे संसद की कार्यवाही को भी बाधित करते थे। न्याय नहीं मिलने तक हम अपना धरना जारी रखेंगे।शीर्ष मंत्रियों के साथ पीएम मोदी की बैठकप्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने संसद में शीर्ष मंत्रियों के साथ एक बैठक की। इसमें रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी, कानून मंत्री किरेन रिजिजू और संसदीय कार्य मंत्री प्रल्हाद जोशी सहित वरिष्ठ कैबिनेट सदस्य मौजूद थे।राज्यसभा में पेश होगा बांध सुरक्षा विधेयककेंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र शेखावत आज राज्यसभा में बांध सुरक्षा विधेयक, 2019 पेश करेंगे। विधेयक बांध की विफलता से संबंधित आपदाओं की रोकथाम और उनके सुरक्षित कामकाज के लिए निर्दिष्ट बांधों की निगरानी, ​​निरीक्षण, संचालन और रखरखाव का प्रावधान करता है।निलंबन पर विपक्ष की बैठकराज्यसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि हम राज्यसभा के 12 विपक्षी सदस्यों का निलंबन रद्द करने की मांग कर रहे हैं। हम एक बैठक करेंगे और भविष्य की रणनीति तय करेंगे।एमएसपी पर कानूनी गारंटी की मांगराज्यसभा सांसद दीपेंद्र सिंह हुड्डा ने ‘प्रदर्शन के दौरान जान गंवाने वाले किसानों के परिवारों को वित्तीय सहायता और न्यूनतम समर्थन मूल्य की कानूनी गारंटी पर चर्चा’ की मांग करते हुए व्यवसायिक नोटिस का निलंबन दिया है।निलंबन को लेकर विपक्ष का विरोध प्रदर्शनराज्यसभा के 12 विपक्षी सांसदों का निलंबन रद्द करने की मांग को लेकर विपक्षी नेता संसद परिसर में महात्मा गांधी की प्रतिमा के सामने विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं।

महंगाई के मुद्दे पर स्थगन प्रस्तान

संसद का शीतकालीन सत्र के तीसरे दिन कांग्रेस सांसद मनीष तिवारी ने लोकसभा में “महंगाई की उच्च दर, रसोई गैस सिलेंडर की कीमतों में वृद्धि” पर स्थगन प्रस्ताव नोटिस दिया है। कांग्रेस के राज्यसभा सांसद शक्तिसिंह गोहिल ने ‘अनाज, खाद्य तेल, पेट्रोल-डीजल और रसोई गैस जैसी आवश्यक वस्तुओं की कीमतों में वृद्धि’ के मुद्दे पर सदन में कार्यवाही स्थगित करने का नोटिस दिया है।

कोरोना से मौतों की वास्तविक संख्या पर चर्चा की मांग

कांग्रेस सांसद मनिकम टैगोर ने लोकसभा में ‘कोरोना से मौतों की वास्तविक संख्या पर चर्चा करने और सरकार को यह सुनिश्चित करने का निर्देश देने के लिए स्थगन प्रस्ताव नोटिस दिया कि गरीबों को प्रत्येक को 4 लाख रुपये मिले।’

लोकसभा में पेश होगा हायक प्रजनन प्रौद्योगिकी (विनियमन) विधेयक

स्वास्थ्य मंत्री डा मनसुख मंडाविया आज लोकसभा में सहायक प्रजनन प्रौद्योगिकी (विनियमन) विधेयक, 2020 पेश करेंगे। विधेयक सहायक प्रजनन प्रौद्योगिकी क्लीनिकों के विनियमन और पर्यवेक्षण, दुरुपयोग की रोकथाम, प्रजनन प्रौद्योगिकी सेवाओं के सुरक्षित और नैतिक अभ्यास के लिए है।

कोरोना के नए वैरिएंट पर आज लोकसभा में चर्चा

कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रोन को लेकर पूरी दुनिया में फैले दहशत के माहौल के बीच आज लोकसभा में नियम 193 के तहत इस पर चर्चा की जाएगी। हालांकि भारत में अभी तक ओमिक्रोन का कोई भी मामला सामने नहीं आया है लेकिन सरकार अपनी तरफ से पूरी सजगता बरत रही है।

निलंबन पर संसद से बाहर भी राजनीतिक लड़ाई

राज्यसभा सांसदों के निलंबन पर राजनीतिक लड़ाई संसद के बाहर भी जारी रहेगी। राज्यसभा के 12 निलंबित सांसदों ने संसद परिसर में गांधी प्रतिमा के सामने धरने पर बैठने का फैसला किया है। सूत्रों ने बताया कि सांसद सुबह 10 बजे से धरने पर बैठेंगे। विभिन्न विपक्षी दलों के नेता भी विरोध प्रदर्शन में शामिल होंगे। कांग्रेस पार्टी ने राज्यसभा और लोकसभा के सभी सांसदों से एकजुटता दिखाने के लिए वहां मौजूद रहने को कहा है। वहीं, तृणमूल कांग्रेस के दो सांसद आज से 23 दिसंबर को सत्र खत्म होने तक रोज संसद परिसर में गांधी की प्रतिमा के सामने धरने पर बैठेंगे। हालांकि विपक्षी दलों के अन्य सांसदों को लेकर स्थिति स्पष्ट नहीं है।

Check out our other content

Check out other tags:

Most Popular Articles