8.7 C
London
Tuesday, March 5, 2024

कौन है बुल्ली बाई, जिनपर मुस्लिम महिलाओं को नीलाम करने का लगा आरोप?

- Advertisement -spot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_img

नई दिल्ली: बुल्ली बाई ऐप इन दिनों चर्चा का विषय बनी हुई है. इस ऐप के जरिये मुस्लिम महिलाओं को टारगेट करके अपमानित किया जा रहा था. एक ऐप पर कम से कम सौ प्रभावशाली मुस्लिम महिलाओं की तस्वीरें अपलोड किये जाने पर बवाल मच गया है. दरअसल, पिछले साल सुल्ली डील्स पर महिलाओं की आपत्तिजनक तस्वीरें अपलोड करने जैसा एक वाकया इस बार ‘बुल्ली बाई’ नाम की एक ऐप पर मिला है.

Bullibai क्यों आया चर्चा में?

मुस्लिम महिलाओं के सोशल मीडिया हैंडल से फोटो को डाउनलोड करके इस प्लैटफॉर्म पर नीलामी के लिए पोस्ट की जा रही थीं. माना तो यह भी जा रहा है कि इसके जरिये मुस्लिम महिलाओं की नीलामी के लिए लोगों को प्रोत्साहित किया जा रहा था. जानकारी के लिए बता दें कि यह एक एप्लिकेशन है जिसे Bullibai.github.io पर होस्ट किया गया था. इसके जरिये मुस्लिम महिलाओं की कथित तौर पर सौदेबाजी हो रही थी. केंद्र सरकार के दखल के बाद अब इस ऐप को हटा लिया गया है.

बुल्ली बाई ऐप सुल्ली डील्स की तरह

बुल्ली बाई ऐप के काम करने का तरीका बिल्कुल सुल्ली डील्स की तरह है. ऐप को खोलने पर एक मुस्लिम महिला की तस्वीर बुली बाई के तौर पर सामने आती है. ट्विटर पर ज्यादा फॉलोअर्स वाली मुस्लिम महिलाएं जिनमें पत्रकार भी शामिल हैं, उन्हें चुन कर उनकी तस्वीरें अपलोड की गई हैं. पिछले साल सुल्ली डील्स में मुस्लिम महिलाओं की तस्वीरों के दुरुपयोग के मामले में दिल्ली और उत्तर प्रदेश में कुछ शिकायतें दर्ज की गई थीं. बुल्ली बाई की ही तरह सुल्ली डील्स को भी गिटहब प्लैटफाॅर्म पर पेश किया गया था.

बुल्ली बाई का अकाउंट ब्लॉक

आपको बता दें कि इंफॉर्मेशन एंड टेक्नोलॉजी मिनिस्टर अश्विनी वैष्णव ने जानकारी देते हुए बताया कि बुल्ली बाई के अकाउंट को ब्लॉक कर दिया गया है. इसके अलावा इसके ट्विटर अकाउंट को भी ब्लॉक कर दिया गया है. इस मामले को लेकर जांच के आदेश दिये गए हैं. उन्होंने ट्वीट कर कहा कि आगे की कार्रवाई के लिए CERT और पुलिस विभाग को जिम्मेदारी दी गई है.

बुल्ली बाई ऐप के खिलाफ एक्शन

‘बुल्ली बाई’ मोबाइल ऐप के जरिये प्रभावशाली मुस्लिम महिलाओं की नीलामी कराने के मामले में दिल्ली पुलिस एक्शन में आ गई है. सोमवार को उसने सोशल मीडिया मंच ट्विटर से ‘बुल्ली बाई’ के डेवलपर गिटहब से संबंधित जानकारी मांगी है. पुलिस के सूत्रों के हवाले से मीडिया में आ रही जानकारी के अनुसार, दिल्ली पुलिस ने ट्विटर से ‘बुल्ली बाई’ ऐप के डेवलपर की जानकारी मांगी है. इसके साथ ही, पुलिस ने ट्विटर से उस अकाउंट के बारे में जानकारी मांगी है, जिसने सबसे पहले ‘बुल्ली बाई’ ऐप के बारे में ट्वीट किया. उसने विवाद से संबंधित आपत्तिजनक सामग्री को हटाने के लिए कहा है.

- Advertisement -spot_imgspot_img
Jamil Khan
Jamil Khan
जमील ख़ान एक स्वतंत्र पत्रकार है जो ज़्यादातर मुस्लिम मुद्दों पर अपने लेख प्रकाशित करते है. मुख्य धारा की मीडिया में चलाये जा रहे मुस्लिम विरोधी मानसिकता को जवाब देने के लिए उन्होंने 2017 में रिपोर्टलूक न्यूज़ कंपनी की स्थापना कि थी। नीचे दिये गये सोशल मीडिया आइकॉन पर क्लिक कर आप उन्हें फॉलो कर सकते है और संपर्क साध सकते है

Latest news

- Advertisement -spot_img

Related news

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here