18.7 C
London
Thursday, April 11, 2024

Poster पर देखा फैजाबाद तो ओवैसी पर उबली अयोध्या, महंत परमहंसाचार्य का ऐलान…घुसने नहीं देंगे

आल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआइएमआइएम) के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओवैसी की सात सितंबर को अयोध्या के मुस्लिम बहुल क्षेत्र रुदौली में जनसभा प्रस्तावित है। इसके लिए उनके समर्थकों की तरफ से लगाए गए पोस्टर-बैनरों में अयोध्या की जगह फैजाबाद लिखा गया है।

- Advertisement -spot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_img

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का भाजपा का संकल्प पूरा होते देख विपक्ष ने धर्मनगरी में दंगल सजाना शुरू कर दिया है। बसपा ने प्रबुद्धजन सम्मेलन से सवर्ण खास तौर पर ब्राह्मणों को रिझाने का जतन इस धरती से शुरू किया तो सपा भी किसान पटेल यात्रा लेकर वहां पहुंची। सियासी दल जिस रामनगरी को हिंदुत्व की प्रयोगशाला मानकर चल रहे हैं, वहां असदउद्दीन ओवैसी मुस्लिम कार्ड अपने अंदाज में खेलना चाहते हैं। वह जनसभा करने तो सोमवार को मुस्लिम बहुल रुदौली में पहुंचेंगे।

उनके दौरे से पहले एक पोस्टर इंटरनेट मीडिया पर वायरल हो रहा है, इसमें अयोध्या को फैजाबाद लिखा गया है, जिससे सियासत गरमा उठी है। हालांकि, एआइएमआइएम प्रदेश अध्यक्ष ने पार्टी द्वारा अब तक ऐसा कोई पोस्टर तैयार कराने से इन्कार किया है, मगर वायरल पोस्टर को लेकर संत गुस्से में हैं। संतों ने ओवैसी का प्रवेश प्रतिबंधित करने की मांग उठा दी है।

आल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआइएमआइएम) के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओवैसी की सात सितंबर को अयोध्या के मुस्लिम बहुल क्षेत्र रुदौली में जनसभा प्रस्तावित है। इसके लिए उनके समर्थकों की तरफ से लगाए गए पोस्टर-बैनरों में अयोध्या की जगह फैजाबाद लिखा गया है। इस पर विवाद शुरू हो गया है। तमाम संगठनों ने फैजाबाद लिखने पर एतराज जताया है। अयोध्या के तपस्वी छावनी के महंत जगद्गुरु परमहंसाचार्य ने कड़ी आपत्ति जताई है। बाराबंकी जाते वक्त भेलसर में पत्रकारों से वार्ता में उन्होंने कहा कि जब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने फैजाबाद का नाम बदलकर अयोध्या कर दिया, तब फैजाबाद लिखना संविधान का अपमान है। इससे उनकी मंशा जाहिर हो चुकी है। अगर ओवैसी को जनसभा करनी है तो उनको संविधान व प्रदेश सरकार के कानून को मानना पड़ेगा।

उन्होंने प्रशासन से ओवैसी का अयोध्या में प्रवेश प्रतिबंधित करने की मांग की है। प्रशासन को चेतावनी दी है कि अगर उनका प्रवेश प्रतिबंधित नहीं किया गया तो वह रुदौली में ओवैसी को घुसने नहीं देंगे। महंत ने जनसभा की अनुमति को तत्काल निरस्त करने की मांग की है। बाबरी मस्जिद के पक्षकार रहे मो. इकबाल अंसारी ने भी आपत्ति जताई है। उन्होंने कहा कि ओवैसी मुस्लिमों को भड़काने का प्रयास कर रहे हैं। उनका यह धंधा हैदराबाद में भले चलता हो, लेकिन अयोध्या में नहीं चलने वाला है। उधर, पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष शौकत अली ने अब तक इस तरह का कोई पोस्टर लगाने से इन्कार किया, मगर कहा कि जिलों के नाम बदलने से विकास नहीं होता। बताया कि ओवैसी आठ सितंबर को सुल्तानपुर और नौ सितंबर को बाराबंकी में भी सम्मेलन करेंगे।

- Advertisement -spot_imgspot_img
Jamil Khan
Jamil Khan
जमील ख़ान एक स्वतंत्र पत्रकार है जो ज़्यादातर मुस्लिम मुद्दों पर अपने लेख प्रकाशित करते है. मुख्य धारा की मीडिया में चलाये जा रहे मुस्लिम विरोधी मानसिकता को जवाब देने के लिए उन्होंने 2017 में रिपोर्टलूक न्यूज़ कंपनी की स्थापना कि थी। नीचे दिये गये सोशल मीडिया आइकॉन पर क्लिक कर आप उन्हें फॉलो कर सकते है और संपर्क साध सकते है

Latest news

- Advertisement -spot_img

Related news

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here