मुंबई: बॉलीवुड में एक्टर-एक्ट्रेस के बीच लड़ाई-झगड़े आम बात है. कई एक्ट्रेस के बीच जबरदस्त टशन का गवाह बॉलीवुड हमेशा से रहा है. इस कदर लड़ाई होती है कि एक दूसरे के साथ फिल्मों में काम भी नहीं करना चाहते हैं. एक दूसरे को नजरअंदाज करना, नीचा दिखाना  तो आम बात है. कई बार हालात इतने बदतर हो जाते हैं कि हाथापाई पर भी उतर आते हैं. कुछ ऐसा ही एक बार फिल्म ‘प्यारे मोहन’ (Pyare Mohan) के सेट पर ईशा देओल (Esha Deol) और अमृता राव (Amrita Rao) के बीच हुआ था.

बात सन 2006 की है. फिल्म ‘प्यारे मोहन’ की शूटिंग के दौरान ईशा देओल और अमृता राव के बीच किसी बात पर सेट पर ही लड़ाई हो गई. ईशा को इतना गुस्सा आया कि अमृता पर हाथ उठाने से भी नहीं हिचकीं. मीडिया की खबरों के मुताबिक फिल्म सेट पर अमृता ने ईशा पर एक भद्दा कमेंट कर दिया, जिससे तमतमाई हुई ईशा ने आव देखा न ताव एक थप्पड़ जड़ दिया.

Isha Deol : image credit Instagram

सन 2005 में टाइम्स को  दिए एक इंटरव्यू में ईशा देओल ने माना था कि ‘हां मैंने अमृता को थप्पड़ मारा था. पैक अप के बाद एक दिन उसने मेरे डायरेक्टर इंद्र कुमार और कैमरा मैन के सामने गाली दे दी थी. ये मेरे बर्दाश्त से बाहर हो गया, इस तरह बेइज्जती बर्दाश्त से बाहर हो गई तो मैंने उसे थप्पड़ मार दिया. इस बात का मुझे कोई मलाल भी नहीं है क्योंकि उसकी हरकत ही ऐसी थी. मैंने तो सिर्फ अपनी डिगनिटी और सेल्फ रिस्पेक्ट में ऐसा किया’.

Amrita Rao : image credit Instagram

हालांकि अच्छी बात ये रही कि अमृता राव को भी जल्द ही अपनी गलती का एहसास हो गया और उन्होंने ईशा देओल से माफी मांग ली. ईशा ने बताया था कि ‘उसे एहसास हुआ कि उसने क्या किया है तब उसने मुझसे माफी मांगी और मैंने भी उसे माफ कर दिया. अब हमारे बीच सब कुछ अच्छा है’. वहीं अमृता राव ने अपने एक इंटरव्यू में बताया था कि ‘उन्हें दोष देना ठीक नहीं है लेकिन मैं इस बारे में कुछ नहीं कहना चाहती हूं. यह मेरे लिए एक क्लोज चैप्टर की तरह है’.

बता दें कि सन 2006 में रिलीज हुई फिल्म ‘प्यारे मोहन’ इंद्र कुमार और कुकी गुलाटी के निर्देशन में बनी  थी. इसमें ईशा देओल, अमृता राव के साथ विवेक ओबेरॉय और फरदीन खान थे.

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

The world is about to receive just the news it needs. My team and I believe that journalism can change the world and we are on a mission to ensure that this happens.

Leave a comment