बॉलीवुड एक्टर अजय देवगन आज अपना 53वां बर्थडे सेलिब्रेट कर रहे हैं। ‘गोलमाल’ से लेकर ‘सिंघम’ तक अजय देवगन ने हर जॉनर की फिल्में की हैं। साल 1991 में ‘फूल और कांटे’ से अपने करियर की शुरुआत करने वाले अजय देगवन जल्द ही फिल्म ‘Runway-34’ में अजय देवगन के साथ नजर आएंगे। अजय देवगन के बर्थडे पर उनके को-स्टार्स से लेकर करोड़ों फैंस तक ने शुभकामनाएं दी हैं और फैन पेजों पर अजय देवगन से जुड़े तमाम पुराने किस्से आज जमकर शेयर किए जा रहे हैं।

आज भी पॉपुलर है अजय की डेब्यू फिल्म का सीन
अजय देवगन के अधिकतर फैंस ये बात जानते हैं कि उनके पिता वीरू देवगन एक स्टंट डायरेक्टर थे और यही वजह थी कि ‘फूल और कांटे’ में उनका एंट्री सीन काफी डिफरेंट और फुल ऑफ एक्शन रखा गया था। अजय देवगन को खुद भी स्टंट करना काफी पसंद रहा है। उन्होंने अपनी ज्यादातर फिल्मों में अपने स्टंट खुद ही किए हैं और इस दौरान वह कई बार चोटिल भी हो गए।

कॉलेज में भी एक्शन हीरो की तरह रहते थे अजय
अजय देगवन कॉलेज के दिनों में भी किसी एक्शन हीरो की तरह ही रहना पसंद करते थे। टीवी शो ‘यारों की बारात’ में अजय देवगन ने बताया था कि वह कॉलेज में खूब हीरोगिरी दिखाते थे और उन्होंने कई बार लोगों की पिटाई की है। हालांकि इसका खामियाजा ये होता था कि सामने वाले कॉलेज गैंग के लोग भी अजय देवगन को पीटने चले आते थे, इस वजह से उन्हें खुद भी कई बार पिटाई खानी पड़ती थी।

अजय को गैंग बनाकर पीटने आ गए थे लोग
इसी शो में अजय देवगन ने बताया कि एक बार तो 20-25 लोग गैंग बनाकर अजय देवगन को पीटने के लिए चले आए थे। इस घटना के वक्त साजिद खान भी अजय देवगन के साथ मौजूद थे और क्योंकि साजिद ही इस शो के होस्ट भी थो तो अजय ने उन्हीं से आगे ये किस्सा बताने को कहा। साजिद ने बताया कि एक सफेद रंग की जीप में वह और अजय देवगन घूमा करते थे और हॉलीडे होटल के करीब एक पतली गली थी जिसमें से गुजरते वक्त ये हादसा हुआ।

जब अजय की गाड़ी के आगे आ गया बच्चा
साजिद ने बताया कि एक बच्चा पतंग के पीछे दौड़ता हुआ गाड़ी के आगे आ गया और अजय देवगन ने तुरंत ही ब्रेक लगा दिए। बच्चे को जरा भी चोट नहीं आई हालांकि वह बहुत डर गया था इसलिए वह जोर-जोर से रोने लगा। साजिद खान ने बताया, ‘फिर पड़ोस से लोग आ गए। पता नहीं झुंड में कहां से इतने लोग आ गए और हमें घेर लिया।’

150 लोगों को लेकर बचाने पहुंचे थे पिता वीरू
साजिद खान ने कहा कि उन्होंने समझाने की बहुत कोशिश की लेकिन वो लोग समझने को ही तैयार नहीं थे। उन्होंने कहा कि तुम अमीर लोग, गाड़ी तेज चलाते हो। इससे पहले कि अजय और साजिद कुछ समझ पाते उन लोगों ने दोनों को पीटना शुरू कर दिया। साजिद खान ने बताया कि करीब 10 मिनट तक दोनों की पिटाई हुई और तब तक अजय के पिता को इस बात की खबर लग गई और वो तकरीबन 150 लोगों के साथ अपने बेटे को बचाने आ गए।

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

journalist | chief of editor and founder at reportlook media network

Leave a comment