नई दिल्ली: सुकेश चंद्रशेखर (Sukesh Chandrashekhar) नाम के शातिर ठग ने जेल की चारदीवारी के अंदर रहकर 200 करोड़ रुपये की बड़ी ठगी की. इसके मायाजाल से बॉलीवुड की दो खूबसूरत हसीनाएं भी फंसने से नहीं बच पाईं. देश की सबसे महफूज समझी जानी वाली तिहाड़ जेल में जुर्म करने वाले कैदियों को रखा जाता है लेकिन कुछ कैदियों को जुर्म की वारदात को अंजाम देने के लिए जेल से बाहर आने की जरूरत नहीं होती है. उन्हीं कैदियों में से एक का नाम सुकेश चंद्रशेखर है. 

सुकेश ने जेल में रहकर की 200 करोड़ की ठगी

32 साल के इसी बहरूपिये ने जेल के अंदर से ही एक दो नहीं बल्कि 200 करोड़ रुपये की ठगी को अंजाम दिया. इसने जेल के अंदर रहकर ही खुद को भारत सरकार का होम सेक्रेटरी बताया और शिवेंद्र की पत्नी अदिति को फोन करके विश्वास दिलाया कि वो उनके पति को जेल से बाहर निकलवा देगा. 

सुकेश और अदिति के बीच बातचीत

सुकेश- आदिति जी. 

अदिति- जी सर. 

सुकेश- मैं अजय भल्ला बोल रहा हूं, होम सेक्रेटरी ऑफ इंडिया. क्या ये सही समय है आप से बात करने के लिए? 

अदिति- जी सर, ये मेरे लिए बड़े सौभाग्य की बात है कि आपसे बात करने का मौका मिल रहा है. मेरी आपसे एक छोटी सी विनती है. मैं आपसे एक बार मिलना चाहती हूं, किसी भी वक्त जब आप बोलें

सुकेश- अदिति मैं तुम्हे बताना चाहूंगा कि ये बिल्कुल सही समय है चीजों को करने का, अनूप तुम्हे बता देगा और मैं भी माननीय गृह मंत्री से इस बारे में बात करूंगा. मैं माननीय अमित शाह जी को बता दूंगा कि आपने रिक्वेस्ट की है. 

अदिति- मैं बहुत आभारी रहूंगी. 

सुकेश- ये जानना तुम्हारे लिए बहुत जरूरी है कि तुम्हारा ध्यान और काम इस देश के सबसे बड़े ऑफिस के जरिए हो रहा है इसलिए जैसे निर्देश मिले तुम्हे उसी हिसाब से चलना होगा. 

दरअसल सुकेश लगातार अदिति से अभिनव बनकर भी बात करता था. उसने खुद को बड़ा सरकारी अधिकारी बताया था. अदिति पर भरोसा जताने के लिए वो साबित कर देता है कि भारत सरकार उसके पति को जेल से बाहर निकालने के लिए कितनी गंभीर है. 

सुकेश- साढ़े 6 बजे जेल से पति के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग है. 

अदिति- पता नहीं जेल से अभी कन्फर्मेशन नहीं आया है. वो कन्फर्म करेंगे. 

सुकेश- साढ़े 6 बजे वीसी है मैं बोल रहा हूं ना. 

अदिति- ओके, तुम्हे कैसे पता? 

सुकेश- समझ लो मेरी सिक्स सेंस से.

अदिति- ओके, अगर वीसी है तो ठीक वरना घर का खाना बच्चों के साथ मूवी बस. कल मैं अरुंधति के घर पूरे दिन के लिए जाऊंगी, संडे है ना. सर मेरे बारे क्या कह रहे थे? 

सुकेश- क्या कहना चाहती हो कि सर क्या कहना चाहते थे? 

अदिति- कई बार वो मुझ पर गुस्सा हो गए थे तुमने कहा था ना. 

सुकेश- वो क्या कहना चाहते थे, तुम मुझसे क्या सुनना चाहती हो? 

सुकेश- आज से, जब से भल्ला साहब का कॉल आया था उसके बाद से चीजें बदल गई हैं. डिपार्टमेंट ने साफ कर दिया है कि उनको जल्द से जल्द बाहर निकालो. 

अदिति- भल्ला साहब से बात करने के बाद से चीजें कैसे बदल गई हैं? 

सुकेश- तुम लोग बड़े लोग हो होम सेक्रेटरी तुम्हे फोन करते हैं? 

अदिति- तुम ये साइड कमेंट मार देते हो, कभी इधर फेंक देते हो कभी उधर फेंक देते हो, मुझे तो कुछ समझ नहीं आता. 

सुकेश- हम तो छोटे आदमी हैं अभिनव कौन है? 

अदिति- इसका क्या मतलब है कि हम तो छोटे लोग हैं. 

सुकेश- क्योंकि मैंने आपकी और भल्ला साहब की बातें सुनी थीं, आप लोग क्या बात कर रहे थे, जबकि वो आज तक मेरा नाम भी नहीं जानते उन्होंने मेरे पर कभी ध्यान भी नहीं दिया. 

अदिति- अब समझ आया कि तुम्हे क्या परेशानी है? तुम चिंता मत करो मुझे तो तुम्हारा नाम पता है ना. 

सुकेश- यहां पीएमओ में हर कोई तुम्हारा नाम जानता है. 

अदिति- क्या वो मेरा नाम जानते हैं? 

सुकेश- हर कोई तुम्हारा नाम जानता है. 

अदिति- रहने दो अभिनव, ऐसा नहीं हो सकता. 

सुकेश- अपने आपको कम मत आंको. 

जेल के अंदर से ही सुकेश लगातार शिवेंद्र और मलविंदर सिंह को बाहर निकालने के नाम पर अदिति से पैसे वसूल रहा था, जिसमें उसका साथ लीना मारिया पॉल, प्रदीप और दीपक रमनानी दे रहे थे. 

बॉलीवुड हसीनाओं को सुकेश ने कैसे फंसाया?

सुकेश एक तरफ अदिति से करोड़ों रुपये वसूल रहा था तो दूसरी तरफ इन पैसों को बॉलीवुड की दो खूबसूरत हसीनाओं पर दोनों हाथों से लूटा रहा था. इन दो हसीनाओं पर सुकेश ने करीब 10 करोड़ रुपये खर्च भी कर दिए थे. दोनों को महंगे गिफ्ट और महंगी गाड़ियां गिफ्ट की गई थीं. 

कैसे हुई जैकलीन और सुकेश की मुलाकात?

जैकलीन फर्नांडीस ने ED को दिए अपने बयान में माना कि वो सुकेश से अपने मेकअप आर्टिस्ट के कहने पर मिली थीं, तब तक वो सुकेश को सन टीवी के मालिक शेखर रत्न वेला के तौर पर जानती थीं. जैकलीन फर्नांडीस ने ED को दिए अपने बयान में बताया कि सुकेश उसके पीछे पागल हो गया था. जैकलीन से बात करने और मिलने के लिए वो दिसंबर 2020 से पीछे पड़ा हुआ था. वो लगातार जैकलीन को जेल के अंदर से फोन कर रहा था लेकिन जैकलीन ने कभी उसके फोन का जवाब नहीं दिया. 

जिसके बाद फरवरी 2021 में उसकी मेकअप आर्टिस्ट शान मुठ्ठील के पास किसी ने फोन करके अपने आपको सरकारी अधिकारी बताया और कहा कि जैकलीन को मिस्टर शेखर रत्न वेला से जरूर मिलना चाहिए वो बहुत खास व्यक्ति हैं. जिसके बाद जैकलीन ने सुकेश से (जिसने अपने आपको शेखर रत्न वेला बताया था) संपर्क किया. सुकेश ने जैकलीन को सन टीवी का मालिक बताया और जयललिता की पार्टी से जुड़े हुए परिवार का सदस्य बताया. 

सुकेश ने जैकलीन को बोला कि वो उसका बहुत बड़ा फैन है और उसको साउथ की फिल्में भी करनी चाहिए. उसके (सुकेश) पास सन टीवी के कई प्रोजेक्ट लाइन अप हैं. जिसके बाद सुकेश लगातार अपने मोबाइल नंबर +17242765 से वाट्सअप कॉल के जरिए जैकलीन से संपर्क में रहने लगा. 

सुकेश ने अमेरिका में रहने वाली जैकलीन की बहन गरेल्दिने फर्नांडीस के अकाउंट में 150,000 अमेरिकी डॉलर यानी एक करोड़ से ज्यादा की रकम लोन के तौर पर ट्रांसफर की थी. सुकेश ने ऑस्ट्रेलिया में रहने वाले जैकलीन के भाई वारेन फर्नांडीस के अकाउंट में भी 15 लाख रुपये ट्रांसफर किए थे. 

सुकेश ने जैकलीन को सुरेश तपोरिया नाम के शख्स के जरिए ‘एसपुएला’ नाम का एक महंगा घोड़ा, Gucci के 3 डिजाइनर बैग, Chanel, Gucci के 2 जिमवियर, Louis Vuitton के एक जोड़ी जूते, 2 जोड़ी हीरे की कान की बालियां, ब्रेसलेट, मल्टी कलर के पत्थर, 2 Hermes ब्रेसलेट दिए. जैकलीन ने ED को दिए अपने बयान में बताया कि सुकेश ने उसको मिनी कूपर की एक गाड़ी भी गिफ्ट की थी जिसको उसने वापस कर दिया. 

जैकलीन ने बताया कि सुकेश ने मशहूर स्क्रिप्ट राइटर अद्वैता काला के पास 15 लाख रुपये कैश भी पहुंचाया. सुकेश ने जैकलीन के लिए कई बार प्राइवेट जेट ट्रिप और होटलों में रुकने का खर्चा भी खुद किया था. 

नोरा फतेही ने ईडी को क्या बताया?

एक तरफ तो सुकेश लगातार जैकलीन के संपर्क में था तो उसके निशाने पर नोरा फतेही भी थीं. उसने नोरा को लीना पॉल के जरिए एक इवेंट पर बुलाया और महंगे गिफ्ट दिए. जिसके बाद दोनों की WhatsApp चैट पर बात होने लगी. उसी चैट के दौरान सुकेश ने नोरा को बीएमडब्लू कार देने की पेशकश की. ED ने जब नोरा को बुलाकर पूछताछ की तो नोरा ने ED के सामने दिए अपने बयान में क्या बताया ये पढ़िए. 

सवाल- कृपया अपना परिचय दें? 

जवाब- माई नेम इज नोरा फतेही, मैं टोरंटो में 6 फरवरी 1992 को पैदा हुई. मेरी मां का नाम रचीदा एलगामारी है. मेरे पिता का नाम अब्देल मलेक फतेही है. मेरे भाई का नाम यासीन मलेक है. वो टोरंटो में ही रहते हैं. 

सवाल- जब 20 को दिल्ली में इवेंट हुआ था तो क्या आप सुकेश चंद्रशेखर को उससे पहले से जानती थीं या उनसे मिली थीं? 

जवाब- ना, मैं नहीं जानती थी कि वो कौन हैं और ना तो इवेंट से पहले कभी उनसे कोई बात की थी. 

सवाल- क्या आपको इवेंट वाले दिन दोपहर को सिग्नल ऐप के माध्यम से सुकेश चंद्रशेखर की कोई कॉल आई थी और क्या उन्होंने आपको पहले से बताया था कि वो आपको कार गिफ्ट कर रहे हैं? 

जवाब- ना, मैंने कभी भी सिग्नल एप्लिकेशन का इस्तेमाल नहीं किया. 

सवाल- क्या मिस्टर ध्रुमिल राजेश थक्कर को भी चेन्नई के उस इवेंट में बुलाया गया था जो 20 दिसंबर 2020 को हुआ था? 

जवाब- हां, वे टीम के अन्य मेंबर्स संग उस इवेंट का हिस्सा थे. 

सवाल- 13 सितंबर 2021 को दिए गए आपके स्टेटमेंट में आपने कहा था कि मिस लीना ने सभी के सामने ये अनाउंसमेंट की थी कि वो आपको एक ब्रैंड न्यू कार गिफ्ट करना चाह रही हैं. क्या आप इस बात को लेकर श्योर हैं? 

जवाब- हां, जब इवेंट शुरू हुआ उस दौरान लीना और कुछ लोग साथ में दो वीडियोग्राफर मेरे पास मुझे गिफ्ट देने आए और मेरे साथ तस्वीरें लीं. वे वीडियो शूट कर रहे थे और उसी दौरान मुझे एक हरे रंग का बड़ा सा गूची बॉक्स और आईफोन गिफ्ट कर रहे थे. मेरे ऑन फ्लोर मैनेजर के साथ एजेंसी के लोग खड़े थे. मेरे मेकअप स्टाफ और स्पॉट बॉय भी थे. मिस लीना भी अपने साथ अपनी सिस्टर या सिस्टर-इन-लॉ के साथ आई थीं. मगर मैं श्योर नहीं कि उनके साथ कौन था? उसके बाद उन्होंने मुझे गिफ्ट दिया. इस दौरान फोन पर एक शख्स था जिसे लीना ने अपना हसबैंड कहा. फोन लाउडस्पीकर पर था और वो शख्स हमारा शुक्रिया करते हुए ये कह रहा था कि वो बता नहीं सकता कि मेरा कितना बड़ा फैन है. 

सवाल- क्या 20 दिसंबर 2020 को हुए इवेंट में आपको जो गिफ्ट्स सुकेश से मिले हैं उसके अलावा भी उन्होंने आपको कोई गिफ्ट दिया था? 

जवाब- नहीं, मुझे कभी भी सुकेश चंद्रशेखर से इवेंट के पहले या बाद में कोई गिफ्ट नहीं मिला था. मुझे जो गिफ्ट्स मिले वो सिर्फ इवेंट वाले दिन ही मिले. 

सवाल- क्या 20 दिसंबर 2020 को हुए इवेंट के बाद आपने पैलेडियम मॉल से कोई और गूची बैग्स खरीदे थे?

जवाब- मैंने इवेंट के बाद मॉल से कोई भी गूची बैग नहीं खरीदा. लेकिन मैंने मॉल से अपनी फैमिली, फ्रेंड्स और मैनेजमेंट के लिए क्रिसमस की शॉपिंग की थी. 

सवाल- क्या आपने पैलेडियम मॉल लोअर परेल से कोई ऐसा बैग खरीदा था जिसकी पेमेंट का अरेंजमेंट सुकेश चंद्रशेखर ने किया हो? 

जवाब- नहीं, बिल्कुल भी नहीं. 

200 करोड़ की वसूली के मामले में सुकेश ने ED के सामने कबूल किया कि उसने जैकलीन और नोरा पर करीब 10 करोड़ रुपये खर्च किए हैं. जबकि 5 करोड़ रुपये उसने तिहाड़ जेल और अपनी ऐशगाह बनाने के लिए डीजी तिहाड़ को 5 करोड़ रुपये दिए थे और करोड़ों रुपये तिहाड़ जेल के स्टाफ को भी बांटे थे.

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

The world is about to receive just the news it needs. My team and I believe that journalism can change the world and we are on a mission to ensure that this happens.

Leave a comment