लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के एतिहासिक इमामबाड़े में एक लड़की के डांस का वीडियो वायरल होने के बाद काफ़ी बवाल मचा हुआ है 30 सेकंड के इस वीडियो में एक लड़की इमामबाड़े के अंदर वाले हिस्से में डांस करती हुई दिखाई दे रही है।

मुस्लिम उलमाओं ने इस पर आपत्ति जताते हुए कहा है कि इमामबाड़ा एक धार्मिक स्थल है पर्यटन स्थल नहीं जहां इस तरीके का डांस किया जाना बिलकुल भी सही नहीं है।शिया चाँद कमिटी के अध्यक्ष मौलाना सैफ अब्बास ने कड़े शब्दों में निंदा करते हुए सख्त कार्यवाही की माँग की है। इस वायरल वीडियो की जितनी भी निंदा की जाए कम है हमारी तरफ से पहले भी कई बार प्रशासन को बताया जा चुका है की बड़ा इमामबाड़ा टूरिस्ट प्लेस नहीं धार्मिक स्थल है बड़ा इमामबाड़ा एक धार्मिक प्लेस है ना कि नाच गाने की जगह है।

योगी सरकार में उत्तर प्रदेश के अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री मोहसिन रज़ा ने भी लखनऊ डीएम और हुसैनाबाद ट्रस्ट के अध्यक्ष को पत्र लिखकर कार्यवाही की माँग की है उन्होंने कहा है कि ऐसे पवित्र स्थलों पर किसी भी तरह का अमर्यादित आचरण नाच गाना वर्जित है

इमामबाड़े में तैनात सुरक्षाकर्मियों की नैतिक ज़िम्मेदारी है की इस पवित्र स्थल की सुचिता बनाए रखें ताकि भविष्य में इस प्रकार की कोई घटना ना हो।

आल इंडिया शिया पर्सनल लॉ बोर्ड के अध्यक्ष मौलाना यासूब अब्बास ने इमामबाड़े परिसर में पर्यटकों के आने पर रोक लगाए जाने की माँग की है उनका कहना है कि इमामबाड़ा एक धार्मिक स्थल है कोई पर्यटन स्थल नहीं इसकी पवित्रता को रौंदा जा रहा है।

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

journalist | chief of editor and founder at reportlook media network

Leave a comment