कोलकाता: भारतीय जनता पार्टी के नेता और फिल्म अभिनेता मिथुन चक्रवर्ती (Mithun Chakraborty) से भड़काऊ भाषण मामले में कोलकाता पुलिस (Kolkata Police) ने वर्चुअल तरीके से पूछताछ की. कोलकाता पुलिस के अधिकारियों ने मिथुन से करीब 45 मिनट तक पूछताछ की.

मिथुन चक्रवर्ती ने किया था कलकत्ता हाई कोर्ट का रुख

मिथुन चक्रवर्ती (Mithun Chakraborty) ने इससे पहले कलकत्ता हाई कोर्ट (Calcutta High Court) का रुख किया था और आईपीसी की धारा 504, 505, 153ए, 120बी के तहत उनके खिलाफ दर्ज प्राथमिकी को रद्द करने की मांग की थी. हालांकि, कोर्ट ने उन्हें जांच में वर्चुअली शामिल होने के लिए कहा था.

चुनाव प्रचार के दौरान दिया था भड़काऊ बयान

बता दें कि मिथुन चक्रवर्ती (Mithun Chakraborty) ने पश्चिम बंगाल विधान सभा चुनाव (West Bengal Assembly Election) के दौरान आयोजित रैली में भड़काऊ भाषण दिया था. इसके बाद कोलकाता के मानिकतल्ला थाने में उनके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी.

मिथुन चक्रवर्ती का भाषण

माणिकतला पुलिस स्टेशन में दर्ज प्राथमिकी में दावा किया गया है कि 7 मार्च को आयोजित रैली में मिथुन चक्रवर्ती (Mithun Chakraborty) ने ‘मारबो एकहने लाश पोरबे शोशाने (तुम्हे यहां मारूंगा तो लाश श्मशान में गिरेगी)’ और ‘एक छोबोले छोबी (सांप के एक दंश से तुम तस्वीर में कैद हो जाओगे)’ कहा था. बता दें कि ये दोनों फिल्मी डायलॉग हैं और इसकी वजह से मिथुन चक्रवर्ती मुश्किल में आ गए हैं.

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

The world is about to receive just the news it needs. My team and I believe that journalism can change the world and we are on a mission to ensure that this happens.

Leave a comment