6.4 C
London
Tuesday, April 23, 2024

कमजोर भारतीय शेयर मार्केट का तिलहन बाजार पर पड़ रहा है असर, हफ्ते के दूसरे दिन ही आई ऐसी खबर

आज भारतीय शेयर बाजार में कमजोरी देखने को मिली है । बीएसई सेंसेक्स 518 अंक से अधिक के नुकसान में रहा, जिसका असर तिलहन बाजार पर भी देखने को मिला । आइए आज जानते हैं कि हफ्ते के पहले दिन तिलहन कितना महंगा- सस्ता हुआ ।

- Advertisement -spot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_img

Indian oilseed request विदेशी बाजारों में तेजी के रुख के बीच दिल्ली तेल- तिलहन बाजार में सोमवार को तेल- तिलहन कीमतों में गिरावट का रुख दिखाई दिया और सोयाबीन तिलहन और बिनौला तेल कीमतें हानि के साथ बंद हुई । यही हाल भारतीय शेयरबाजार का भी रहा । खाद्य तेलों की कम आपूर्ति के बीच सरसों, मूंगफली, सोयाबीन तेल, सीपीओ और पामोलीन एवं तेल की कीमतें पूर्वस्तर पर बनी रहीं ।

इस कारण से 10 प्रतिशत महंगा बिक रहा तेल
सामान्य तौर पर सूरजमुखी और सोयाबीन डीगम तेल कम आपूर्ति के कारण लगभग 10 प्रतिशत महंगा बिक रहा है । उन्होंने कहा कि इस कम आपूर्ति की स्थिति को खत्म करने के लिए सब्सिडी सिस्टम को खत्म करके सूरजमुखी और सोयाबीन तेल पर 10 प्रतिशत का आयात शुल्क लगा देना चाहिए । इससे किसानों को फायदा होगा क्योंकि उनके तिलहन के अच्छे दाम मिल पाएंगे , आपूर्ति बढ़ने से उपभोक्ताओं को अधिक फायदा होगा और तेल की मिलों को सस्ते आयातित तेलों की वजह से जो बाजार गिरावट आयी है , उससे राहत मिलेगी एवं सरकार को भी अधिक राजस्व की प्राप्ति होगी ।


कारोबारियों ने दी जानकारी
कारोबारियों ने कहा कि बिनौले तेल और खल की लागत बाजार भाव से अधिक है । नरमा भाव नीचे होने के कारण किसान मंडियों में कम फसल ला रहा है । खाद्य तेलों के लिए आयतो पर बढ़ती बाहरी देशो पर निर्भरता और इसके लिए भारी मात्रा में विदेशी मुद्रा के खर्च के जाल से निकलने की जरूरत है । इसके लिए एकमात्र रास्ता किसानों को लाभकारी कीमत देकर देश में तिलहन के उत्पादन को बढ़ावा देना ही है

सोमवार को तेल-तिलहनों के भाव इस प्रकार रहे:

सरसों तिलहन – 7,300-7,350 (42 प्रतिशत कंडीशन का भाव) रुपये प्रति क्विंटल। मूंगफली – 6,585-6,645 रुपये प्रति क्विंटल। 
मूंगफली तेल मिल डिलिवरी (गुजरात) – 15,100 रुपये प्रति क्विंटल। 
मूंगफली रिफाइंड तेल 2,445-2,705 रुपये प्रति टिन। 
सरसों तेल दादरी- 14,850 रुपये प्रति क्विंटल। 
सरसों पक्की घानी- 2,250-2,380 रुपये प्रति टिन। 
सरसों कच्ची घानी- 2,310-2,435 रुपये प्रति टिन। 
तिल तेल मिल डिलिवरी – 18,900-21,000 रुपये प्रति क्विंटल। 
सोयाबीन तेल मिल डिलिवरी दिल्ली- 14,200 रुपये प्रति क्विंटल। 
सोयाबीन मिल डिलिवरी इंदौर- 13,800 रुपये प्रति क्विंटल। 
सोयाबीन तेल डीगम, कांडला- 12,750 रुपये प्रति क्विंटल। 
सीपीओ एक्स-कांडला- 8,550 रुपये प्रति क्विंटल। 
बिनौला मिल डिलिवरी (हरियाणा)- 12,500 रुपये प्रति क्विंटल। 
पामोलिन आरबीडी, दिल्ली- 10,300 रुपये प्रति क्विंटल। 
पामोलिन एक्स- कांडला- 9,400 रुपये (बिना जीएसटी के) प्रति क्विंटल। 
सोयाबीन दाना – 5,650-5,750 रुपये प्रति क्विंटल। 
सोयाबीन लूज 5,460-5,510 रुपये प्रति क्विंटल।
मक्का खल (सरिस्का) 4,010 रुपये प्रति क्विंटल।

- Advertisement -spot_imgspot_img
Gorav Sharma
Gorav Sharma
गोरव शर्मा (Gorav Sharma) 26 वर्ष के हैं। वह रिपोर्टलुक डिजिटल (https://reportlook.com/ ) में बिजनेस डेस्क पर बतौर सब एडिटर अपनी सेवा दे रहे हैं। उनसे [email protected] पर संपर्क किया जा सकता है। वह बिजनेस जर्नलिज्म में 2 साल से ज्यादा का अनुभव रखते हैं। अपने करियर में वे बजट, ऑटो एक्सपो के साथ-साथ बिजनेस से जुड़े कई बड़े इवेंट कवर कर चुके हैं। वह नवलगढ़, राजस्थान के रहने वाले हैं। उन्होंने RU से बिज़नेस एंड इकोनॉमिक्स में मास्टर्स किया है

Latest news

- Advertisement -spot_img

Related news

- Advertisement -spot_img