7.3 C
London
Wednesday, February 28, 2024

हमें जांच एजेंसी पर भरोसा नहीं, बृजभूषण सिंह को पद से हटाया जाए और जेल में डाला जाए: विनेश फोगाट

- Advertisement -spot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_img

नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस ने भारतीय कुश्ती महासंघ (WFI) के प्रमुख बृजभूषण शरण सिंह (Brij Bhushan Sharan Singh) के खिलाफ शुक्रवार को प्राथमिकी दर्ज करने का फैसला किया जिसे यहां के जंतर-मंतर पर प्रदर्शन कर रहे पहलवानों ने ‘जीत की ओर पहला कदम’ करार दिया। पहलवान ने हालांकि कहा कि वे भारतीय जनता पार्टी के इस सांसद को उनके सभी पदों से हटाये जाने तक अपना विरोध प्रदर्शन जारी रखेंगे।

दिल्ली पुलिस की ओर से सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने प्रधान न्यायाधीश डी वाई चंद्रचूड़ और न्यायमूर्ति पी एस नरसिम्हा की उच्चतम न्यायालय की पीठ को बताया कि प्राथमिकी शुक्रवार को दर्ज की जाएगी। डब्ल्यूएफआई प्रमुख पर यौन उत्पीड़न और डराने-धमकाने का आरोप लगाने वाले पहलवान 23 अप्रैल को अपना आंदोलन दोबारा से शुरू करने के बाद से उनके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने की मांग कर रहे हैं।

साक्षी मलिक ने जंतर-मंतर पर संवाददाताओं से कहा, ‘‘यह जीत की ओर पहला कदम है, लेकिन हमारा विरोध जारी रहेगा।” पहलवानों ने जंतर-मंतर पर बृजभूषण के खिलाफ चल रही सभी आपराधिक कार्यवाही को सूचीबद्ध करने वाला एक बड़ा बैनर लगाया है। पहलवान विनेश फोगाट ने कहा कि दिल्ली पुलिस को प्राथमिकी दर्ज करने में छह दिन लग गए और उन्हें जांच एजेंसी पर भरोसा नहीं है।

विश्व चैम्पियनशिप पदक विजेता विनेश ने कहा, ‘‘वह (पुलिस) एक कमजोर प्राथमिकी दर्ज कर सकती है। हम देखेंगे, निरीक्षण करेंगे और फिर निर्णय लेंगे (विरोध प्रदर्शन खत्म करने पर)। उसे (बृजभूषण को) सलाखों के पीछे होना चाहिए और उसे सभी मौजूदा पदों से हटा दिया जाना चाहिए, अन्यथा वह जांच प्रभावित करने की कोशिश करेगा।”

बजरंग पूनिया ने सोशल मीडिया पर उन्हें समर्थन देने वाले सभी खिलाड़ियों को धन्यवाद दिया। तोक्यो ओलंपिक कांस्य पदक विजेता पूनिया ने कहा ,‘‘दो ओलंपिक स्वर्ण पदक विजेताओं (नीरज चोपड़ा और अभिनव बिंद्रा) ने हमारे लिये ट्वीट किया। अगर किसी महासंघ के अध्यक्ष पर ऐसे आरोप हों तो खिलाड़ी कहां जायेगा। उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जायेगी।”

अनुराग ठाकुर के इस बयान पर कि उन्होंने पहलवानों के साथ 12 घंटे बिताये और सरकार उनके साथ थी, पूनिया ने कहा ,‘‘ उन 12 घंटों में से ठाकुर मुश्किल से 12 मिनट तक मौजूद थे।” यह पूछने पर कि वे खेल मंत्रालय वापिस क्यों नहीं गए , पूनिया ने कहा ,‘‘ खेलमंत्री हमारे फोन नहीं उठाते।” भारतीय खेल जगत ने शुक्रवार को प्रदर्शनकारी पहलवानों का समर्थन किया और नीरज चोपड़ा ने तुरंत कार्रवाई की मांग की। उनके अलावा मुक्केबाज निकहत जरीन, टेनिस स्टार सानिया मिर्जा, हॉकी स्टार रानी रामपाल, क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग, हरभजन सिंह, इरफान पठान और मदन लाल ने भी पहलवानों का समर्थन किया।

By Ahsan Ali

- Advertisement -spot_imgspot_img
Ahsan Ali
Ahsan Ali
Journalist, Media Person Editor-in-Chief Of Reportlook full time journalism.

Latest news

- Advertisement -spot_img

Related news

- Advertisement -spot_img