नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट टीम के इतिहास में एक बार ऐसा विवाद देखने को मिला, जिसे कोई भी याद नहीं करना चाहेगा. दरअसल, टीम इंडिया के विस्फोटक ओपनर रहे वीरेंद्र सहवाग को एक बार एक शख्स ने थप्पड़ जड़ दिया था. इस घटना में तुरंत बाद बड़ा बवाल मच गया था और उस समय के कप्तान सौरव गांगुली बहुत नाराज हुए थे. सौरव गांगुली ने सहवाग को थप्पड़ लगने के बाद अपना आपा खो दिया था.

सहवाग को इस शख्स ने जड़ दिया था थप्पड़

बीसीसीआई के उपाध्यक्ष राजीव शुक्ला ने साल 2013 में एक कार्यक्रम के दौरान इस बात का खुलासा किया था. दरअसल, साल 2002 में भारत के इंग्लैंड दौरे पर वनडे सीरीज के दौरान टीम इंडिया के तत्कालीन कोच जॉन राइट सहवाग की बल्लेबाजी को लेकर बेहद नाराज थे. सहवाग लगातार असफल हो रहे थे. वह कुछ गेंद में ही आउट हो जाते थे. एक दिन जॉन राइट को इतना गुस्सा आया कि उन्होंने सहवाग को थप्पड़ जड़ दिया.

Ex Indian coach John wright

बुरी तरह से भड़क गए गांगुली

जब गांगुली को पता चला कि सहवाग को राइट ने थप्पड़ मारा है तो वह बुरी तरह से भड़क गए, उस वक्त राजीव शुक्ला टीम के मैनेजर थे. गांगुली ने शुक्ला से कहा कि जॉन को माफी मांगनी होगी. शुक्ला ने गांगुली से कहा कि वह इस मुद्दे पर जॉन राइट से बात करेंगे. जॉन राइट ड्रेसिंग रूम के बाहर सिगरेट पी रहे थे. उसी वक्त शुक्ला ने सहवाग को थप्पड़ मारने की बात उठाई.

Saurav Ganguly

ड्रेसिंग रूम में मचा बवाल 

जॉन ने उनसे कहा कि उन्होंने बतौर टीचर सहवाग पर गुस्सा उतारा है. जॉन ने अपनी ‘सफाई’ में कहा, ‘मैंने केवल धक्का दिया है, थप्पड़ नहीं मारा है. वह बार-बार एक ही गलती दोहरा रहा था. मुझे उसकी गलती बर्दाश्त नहीं हो रही थी.’ लेकिन सौरव गांगुली अड़ गए कि जॉन राइट को हर हाल में माफी मांगनी होगी. दूसरी तरफ सचिन तेंदुलकर की राय कुछ और थी.

सचिन ने संभाली बात 

राजीव शुक्ला ने कहा कि सचिन मुझे किनारे ले गए और कहा कि चाहे कुछ भी हो जाए जॉन राइट से माफी नहीं मंगवानी चाहिए. उन्होंने कहा कि मैं सचिन की सलाह समझ गया कि कोच ही माफी मांगेगा तो आगे क्या होगा. इसके बाद राजीव शुक्ला ने सहवाग को समझाया. सहवाग समझ गए और उन्होंने कहा कि जॉन को माफी मांगने की कोई जरूरत नहीं है.

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

The world is about to receive just the news it needs. My team and I believe that journalism can change the world and we are on a mission to ensure that this happens.

Leave a comment