Rajasthan News: राजस्थान की सूर्यनगरी जोधपुर में सोमवार देर रात दो समुदायों के बीच जमकर बवाल हुआ। ईद और अक्षय तृतीया के ठीक पहले रात को दोनों समुदायों के बीच हिंसक झड़पें हुई। एक समुदाय की ओर से जोधपुर पुलिस की टीमों पर भी पथराव किया गया। इस दौरान घटना का कवरेज कर रहे मीडियाकर्मी पुलिस के गुस्से का शिकार हुए। उनके साथ मारपीट की गई।

राजस्थान की सूर्यनगरी जोधपुर (Jodhpur) में ईद (Eid al-Fitr 2022 ) और अक्षय तृतीया (Akshaya Tritiya) पर्व से ठीक पहले साेमवार रात को दो समुदायों के लोग आमने सामने हो गए। बात जालोरी गेट चौराहे (Jalori Gate) पर बालमुकंद बिस्सा सर्किल पर लगे भगवा ध्वज को उतार फेंकने और उसकी जगह समुदाय विशेष का झंडा फहराने से शुरू हुई। बात बिगड़ी तो जमकर पत्थरबाजी शुरू हो गई। इस पत्थरबाजी में कई लोग चोटिल हुए हैं। मौके पर पहुंची पुलिस ने बीच-बचाव कर भीड़ को खदेड़ना शुरू किया। लेकिन भीड़ बेकाबू हुई तो इस दौरान पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा। लेकिन भीड़ को खदेड़ने में लगी पुलिस पर भी एक समुदाय की ओर से पथराव (Stone pelting In Jodhpur) किया गया। इसमें कई पुलिसकर्मी जख्मी हुए हैं। उधर, घटना का कवरेज करने वाले मीडियाकर्मी पुलिस के गुस्से का शिकार बने, पुलिसकमिर्यों ने 4 मीडियाकर्मियों के साथ मारपीट की। फिलहाल, पूरे शहर में माहौल तनावपूर्ण बना हुआ है। पुलिस ने साम्प्रदायिक सौहार्द (Communal Harmony) के साथ त्याेहार मनाने की अपील की है।

जिला प्रशासन ने तनावपूर्ण माहौल को देखते हुए एहतियातन इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी है। रात 1 बजे से जोधपुर में सभी इंटरनेट सेवाएं ठप रहेंगी। जोधपुर के संभागीय आयुक्त हिमांशु गुप्ता की ओर से जारी आदेश में पूरे जोधपुर जिले में इंटरनेट सेवा बंद की गई है।

ईद से पहले साम्प्रदायिक सौहार्द बिगड़ने के बाद अब समाज के जिम्मेदार लोग आगे आए हैं। जोधपुर मुफ्ती साहब भी सड़कों पर पहुंचे हैं और समझाइश कर भीड़ को शांत करने की कोशिश की है।

यह पूरा मामला जोधपुर के जालोरी गेट चौराहे से शुरू हुआ। यहां स्थित बालमुकंद बिस्सा सर्किल पर लगा भगवा ध्वज को उतारकर एक समुदाय के युवकों ने अपना हरा ध्वज लगा दिया। इस बात पर कुछ लोगों ने एतराज किया। इसपर कहासुनी हुई। और दोनों पक्ष आमने-सामने हो गए।मौके पर पहुंची पुलिस ने हल्का बल प्रयोग कर भीड़ को तितर-बितर किया। इस दौरान ईद की नमाज की तैयारी को लेकर समुदाय विशेष के लोगों ने पूरे इलाके में चौराहों पर लाउडस्पीकर लगाए और झंडा फहरा दिया। लेकिन इसके बाद जमा हुई भीड़ ने लाउडस्पीकर हटा दिए। फिलहाल दोनों पक्षों को पुलिस ने अलग-अलग किया है और मौके पर भारी पुलिस जाब्ता तैनात कर दिया गया है।

जालोरी गेट इलाके में इस बवाल के बाद गलियों में जमकर पथरबाजी हुई है। माहौल तनावपूर्ण है। यही वजह है कि जोधपुर जिला प्रशासन तथा पुलिस विभाग के लिए कल ईद की नमाज को लेकर चिंता बढ़ गई है। दरअसल, जालोरी गेट चौराहे रोड पर बड़ी ईदगाह में नमाज पढ़ने के लिए बड़ी संख्या में लोग इकट्‌ठा होते हैं। और रोड ब्लॉक करके नमाज पढ़ी जाती है। अब इस बवाल के बाद हिंदू संगठन के लोग इस बात पर अड़े हैं कि सुबह सड़क पर नमाज नहीं होनी चाहिए। पुलिस अब साम्प्रदायिक हिंसा (Communal Violence) की आशंका के चलते एहतियाती कदम उठा रही है।

इस झगड़े के बाद कवरेज कर रहे हैं मीडिया कर्मियों पर पुलिस ने जमकर लाठियां भांजी। इस लाठीचार्ज में चार मीडियाकर्मी घायल हुए हैं। पुलिस ने मीडिया कर्मियों को कवरेज करने से रोकने का प्रयास किया। घायल मीडियाकर्मियों को अन्य साथियों के सहयोग से अस्पताल पहुंचा गया है। जहां उनका उपचार चल रहा है।

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

journalist | chief of editor and founder at reportlook media network

Leave a comment