14.3 C
London
Wednesday, May 29, 2024

यूपी: राशिद अली मर्डर केस में विवेक और अखिलेश अरेस्ट, कहा बहन के साथ था अफेयर

- Advertisement -spot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_img

उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में राशिद अली की हत्या में पुलिस ने विवेक पाल, अखिलेश उर्फ़ अभिषेक और रामबाबू पाल को गिरफ्तार किया है। पुलिस के अनुसार राशिद आरोपितों के रिश्ते में आने वाली एक लड़की के साथ आपत्तिजनक हालत में पकड़ा गया था। राशिद की लाश 15 नवंबर 2021 (सोमवार) को लालापुर थाना क्षेत्र बसहरा गाँव के पास बारिया झगड़ा नाले में मिली थी। यह गिरफ्तारी 21 नवम्बर 2021 (रविवार) को की गई है। प्रयागराज पुलिस ने इस कार्रवाई की पुष्टि की है।
B

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार मृतक राशिद अली की उम्र लगभग 20 वर्ष थी। वह प्रयागराज के थाना घूरपुर के जसरा गाँव का रहने वाला था। राशिद चेन्नई की एक प्राइवेट कम्पनी में नौकरी करता था। वही पर विवेक पाल भी उसका सहकर्मी था। विवेक पाल का घर बेलमुंडी प्रयागराज में है। साथ काम करते हुए दोनों में दोस्ती हो गई। दीपावली की छुट्टियों में दोनों वापस गाँव आए थे। इसी दोस्ती के बहाने राशिद विवेक के घर आने जाने लगा। इसी दौरान राशिद उसी गाँव की एक लड़की से संबंध बनाने लगा जो विवेक के रिश्ते में और तीसरे आरोपित अखिलेश की चचेरी बहन थी। 

घटना के दिन रविवार को राशिद अपने घर पर विवेक के घर जाने की बात कह कर निकला। लेकिन वो दुबारा वापस नहीं आया। पुलिस को शव के पास से ही कुछ सबूत मिले थे। इसी के आधार पर जाँच करते हुए पुलिस तीनों आरोपितों तक पहुँच गई। पुलिस ने तीनों को हवेलिया तिराहे से पकड़ा है। पूछताछ में आरोपितों ने बताया कि घटना वाले दिन वह युवती के साथ खेत में आपत्तिजनक स्थिति में था, उसी समय सरिया से पीट-पीटकर उसकी हत्या कर दी गई। 

राशिद की हत्या कर के तीनों उसकी लाश को घटनास्थल से लगभग आठ किलोमीटर दूर ले गए। इसके बाद उन्होंने शव को एक नाले में फेंक दिया था। पुलिस ने लोहे की वो रॉड भी बरामद कर ली है जिस से तीनों ने राशिद की हत्या की थी। आरोपितों पर अपराध संख्या – 117 / 2021 के तहत धारा 302, 201, 147, 120 बी / 34 के तहत कार्रवाई की गई है।

- Advertisement -spot_imgspot_img
Jamil Khan
Jamil Khan
जमील ख़ान एक स्वतंत्र पत्रकार है जो ज़्यादातर मुस्लिम मुद्दों पर अपने लेख प्रकाशित करते है. मुख्य धारा की मीडिया में चलाये जा रहे मुस्लिम विरोधी मानसिकता को जवाब देने के लिए उन्होंने 2017 में रिपोर्टलूक न्यूज़ कंपनी की स्थापना कि थी। नीचे दिये गये सोशल मीडिया आइकॉन पर क्लिक कर आप उन्हें फॉलो कर सकते है और संपर्क साध सकते है

Latest news

- Advertisement -spot_img

Related news

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here