लखनऊ: यूपी की राजनीति में आज यानी 25 मार्च का दिन अहम होने जा रहा है। योगी आदित्यनाथ दोबारा यूपी की कमान संभालने जा रहे हैं। वे शुक्रवार को मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे और उनके साथ ही कई दर्जन मंत्री भी शपथ ग्रहण करेंगे। इसके अलावा एक नाम दानिश आजाद, जिन्हें योगी 2.0 में बड़ी जिम्मेदारी मिलने जा रही है।

बलिया के युवा नेता दानिश आजाद अंसारी को अल्पसंख्यक मोर्चा का मंत्री बनाया जा सकता है। वे अभी भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा के प्रदेश महामंत्री है और विद्यार्थी जीवन से ही अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद से जुड़े रहे हैं। उनका नाम सामने आते ही मोहसिन रजा के नाम पर सस्पेंस बरकरार है, जो योगी आदित्यनाथ की सरकार में अल्पसंख्यक कल्याण राज्य मंत्री, मुस्लिम वक्फ और हज मंत्री हैं। 

सूत्रों के मुताबिक, दानिश आजाद को फोन आ गया है। उनको भी मुख्यमंत्री आवास बुलाया गया। अब जहां उनका मंत्री बनना लगभग तय माना जा रहा है। पिछले साल उत्तर प्रदेश सरकार में भाषा समिति के सदस्य व बलिया जनपद के निवासी दानिश आजाद को पार्टी ने बड़ी जिम्मेदारी देते हुए भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चे के प्रदेश महामंत्री का पद दिया था।

वे लंबे समय से राजनीति में सक्रिय हैं। उन्होंने लगातार अल्पसंख्यक समाज व युवाओ में अपनी सक्रियता दिखाई है। इसको देखते हुए पार्टी उन्हें प्रमोट कर सकती है।

दानिश आजाद अंसारी कौन हैं?

रिपोर्टों के मुताबिक, दानिश अंसारी लंबे समय से राजनीति में सक्रिय हैं। उन्हें योगी आदित्यनाथ का करीबी माना जाता है। वे एबीवीपी के लंबे समय से कार्यकर्ता रहे हैं। इसके अलावा वे यूपी सरकार की फखरुद्दीन अली अहमद मेमोरियल समिति के सदस्य भी रह चुके हैं।

अंसारी ने अपनी शुरुआती पढ़ाई बलिया से और ग्रेजुएशन लखनऊ से किया है। दानिश आजाद अंसारी बलिया के बसंतपुर के रहने वाले हैं।

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

journalist | chief of editor and founder at reportlook media network

Leave a comment