Muslim Youth Dies in Kasganj: यूपी के कासगंज (Kasganj News) से बड़ी खबर आ रही है। यहां जिले की सदर कोतवाली की जेल में बंद एक युवक की मौत हो गई। जेल के अंदर एक दिन पहले की लड़की भगाने के आरोप में इस युवक को बंद किया गया था। जिसके संदिग्घ हालातों में मौत हो गई। बीते सोमवार को पुलिस चौकी नदरई गेट पर युवक को लेकर आई थी। इस मामले में पुलिस के अनुसार, युवक ने फांसी लगाकर सुसाइड कर लिया। कासगंज (Kasganj Jail Mein Yuvak Ki Maut) में जेल में युवक की मौत हो जाने के बाद से पुलिस महकमे में हड़कंप मचा हुआ है। साथ ही जेल में हुई इस घटना के बाद से मृतक युवक के परिवार में कोहराम मचा हुआ है। लड़की भगाने के आरोप में पुलिस ने एक दिन पहले ही पूछताछ के लिए युवक को हिरासत में लिया था। वहीं एसपी ने लापरवाही के आरोप में इंस्पेक्टर मुंशी सहित पांच पुलिस कर्मी सस्पेंड (Police Man Suspend In Kasganj) किये हैं।

कासगंज जेल में युवक की मौत (Muslim Youth Dies in Kasganj) मृतक युवक की शिनाख्त सदर कोतवाली क्षेत्र के नगला सय्यैद अहरोली निवासी अल्लाफ पुत्र चांद मियां के रूप में हुई है।बताया जा रहा युवक को एक दिन पूर्व लडकी भगाने के आरोप में पूछतांछ के लिए उठाया था, जहां आज शाम को अल्ताफ ने किसी तरह हवालात में खुदकुशी कर ली, हालांकि पुलिस युवक को जिला अस्पताल भी लेकर पहुंची। जहां चिकित्सकों ने युवक को मृत घोषित कर दिया। पुलिस कस्टडी में खुदकुशी करने के बाद पुलिस की बडी लापरवाही सामने आई है, वहीं इस घटना के बाद पुलिस महकमें में हडकम्प मचा गया है, तो वहीं पुलिस के प्रति ग्रामीणों में खासा गुस्सा पनप रहा है, एसपी रोहन प्रमोद बोत्रे ने इंस्पेक्टर सहित पांच पुलिस कर्मियो को सस्पेंड कर दिया है।

मृतक के पिता ये कहना मतृक चांद मियां के पिता का कहना है कि उन्होंने कल यानि सोमवार को की शाम आठ बजे लड़की भगाने के शक में नदरई गेट चौकी पुलिस को दिया था। खुद अपने हाथों से बच्चे को पकड़ कर दिया था, जब मैं दोबारा चौकी पर गया तो, पुलिस वालो ने मुझे फटकार के भगा दिया ।24 घंटे बाद मुझे पता चला कि कि मेरे बच्चे की फांसी लगाकर हत्या कर दी है पुलिस वालों के हवाले किया है तो मुझे यही उम्मीद है कि पुलिस वालों ने ही फांसी लगाकर हत्या कर दी है।मेरे वेटे का नाम अल्ताफ है, उसकी उम्र 30 साल है। पुलिस कप्तान रोहन प्रमोद बोत्रे ने बताया कि कासगंज कोतवाली के गांव एरोली के रहने वाले अल्ताफ पुत्र चाहत मियां को एक लड़की भगाने के आरोप में आज से पूछताछ के लिए लाया गया था जब पुलिस पूछताछ कर रही थी तभी उसने पुलिसकर्मी से बाथरूम जाने की बात कही पुलिसकर्मी ने उसे हवालात के अंदर बने बाथरूम में भेज दिया, कुछ देर तक बाहर न आने पर कर्मचारी द्वारा जाकर देखा गया तो उसके द्वारा जैकेट के हुड (टोपा) में लगी डोरी को पाइप में बांधकर अपना गला कस लिया था, वहां मौजूद कर्मचारियों द्वारा उक्त अभियुक्त के गले से डोरी खोलकर तत्काल अस्पताल ले जाया गया, जहां पर कुछ देर उपचार होने के बाद उसकी मृत्यु हो गयी। जांच के दौरान प्रथम दृष्टया लापरवाही बरतने के आरोप में पांच पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया है।

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

The world is about to receive just the news it needs. My team and I believe that journalism can change the world and we are on a mission to ensure that this happens.

Leave a comment