गोरखपुर: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के गोरखपुर (Gorakhpur) में एक पिता ने अपनी नाबालिग बेटी के रेप के आरोपी को मौत के घाट (Rape Accused Killed) उतार दिया. पिता ने गोरखपुर कोर्ट के परिसर में आरोपी दिलशाद हुसैन को गोली मार दी. दिलशाद की मौके पर ही मौत हो गई. इस दौरान सुरक्षाकर्मियों ने आरोपी पिता को पकड़ लिया और उसको पुलिस के हवाले कर दिया. 

रेप के आरोपी के सिर में मारी गोली

कैंट पुलिस ने बताया कि शुक्रवार दोपहर करीब एक बजे रेप का आरोपी दिलशाद हुसैन अपने वकील के बुलावे पर कोर्ट आया था. वहां रेप पीड़िता के पिता भागवत निषाद ने अपनी लाइसेंसी पिस्टल से दिलशाद हुसैन के सिर में गोली मार दी, जिससे मौके पर ही उसकी मौत हो गई. 

रेप पीड़िता के घर के सामने थी आरोपी की दुकान

पुलिस ने बताया कि मृतक दिलशाद हुसैन गोरखपुर के बढलगंज के पटनाघाट तिराहा स्थित बीएसएफ के रिटायर जवान भागवत निषाद के घर के सामने पंक्चर की दुकान चलाता था. 12 फरवरी 2020 को दिलशाद ने उनकी नाबालिग बेटी को किडनैप कर लिया था और इसके बाद 17 फरवरी को भागवत ने बलात्कार का केस दर्ज करवाया था.

आरोपी के चंगुल से पुलिस ने नाबालिग को छुड़ाया

उन्होंने आगे बताया कि 12 मार्च 2021 को पुलिस ने हैदराबाद से दिलशाद को गिरफ्तार किया और नाबालिग लड़की को छुड़ाया. पुलिस ने दिलशाद को जेल भेज दिया था जो दो महीने पहले जमानत पर जेल से छूटा था. 

एसएसपी विपिन टाडा ने बताया कि एक युवक की कोर्ट परिसर में गोली मारकर हत्या कर दी गई और हमलावर को गिरफ्तार कर लिया गया है. शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया है और रिपोर्ट आने के बाद मामला दर्ज किया जाएगा.

पुलिस के मुताबिक, मृतक दिलशाद हुसैन (Dilshad Hussain) बिहार के मुजफ्फरपुर का रहने वाला था और वो एक मामले के लिए गोरखपुर कोर्ट आया था. वारदात के बाद वकीलों ने कोर्ट परिसर में घटना के खिलाफ प्रदर्शन करना शुरू कर दिया. हालांकि बाद में एडिशनल डीजीपी अखिल कुमार ने प्रदर्शनकारियों को शांत कराया और सुरक्षा में चूक के खिलाफ कार्रवाई का आश्वासन दिया.

एडिशनल डीजीपी अखिल कुमार ने बताया कि इस बात की जांच कराई जाएगी कि आरोपी भागवत निषाद हथियार लेकर अदालत परिसर में कैसे घुसा और जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. आरोपी भागवत निषाद को हथियार के साथ पकड़ा गया है.

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

The world is about to receive just the news it needs. My team and I believe that journalism can change the world and we are on a mission to ensure that this happens.

Leave a comment