लखनऊ. आगामी विधानसभा चुनाव (UP Assembly Election 2022) के लिए छोटे दलों की बड़ी तैयारी चल रही है. सुभासपा नेता और योगी सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे ओमप्रकाश राजभर, एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी, प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव, भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर आजाद के मुलाकात के बाद संभावित गठबंधन में एक और नाम बढ़ता नजर आ रहा है. प्रतापगढ़ के कुंडा से बाहुबली विधायक राजा भैया उर्फ रघुराज प्रताप सिंह. आपको बता दें क‍ि‍ ये चर्चा शिवपाल यादव से राजा भैया की उन्नाव में मुलाकात के बाद जोर पकड़ रही है कि गठबंधन में जनसत्ता पार्टी भी रहेगी. दूसरी तरफ राजा भैया ने गठबंधन से फिलहाल इंकार किया है, भविष्य की रणनीति से इंकार नहीं किया है.

दूसरी तरफ अपने बहराइच दौरे के दौरान असदुद्दीन ओवैसी ने कहा है कि शिवपाल यादव, ओमप्रकाश राजभर, चंद्रशेखर आजाद से हमारी हुई मुलाकात हुई है. लेकिन लगभग 10 दिन बाद हम लोग फिर बैठेंगे. ओवैसी ने कहा कि उस मुलाकात के बाद हम बताने की स्थिति में रहेंगे. ओवैसी बहराइच में नानपारा विधानसभा में जन सभा को संबोधित करने पहुंचे थे. भीम आर्मी प्रमुख ने भी सहारनपुर में
गठबंधन के बारे मे पूछे जाने पर कहा है कि इसका निर्णय समय आने पर लिया जाएगा. किसी से भी सम्मानजनक समझौता होने पर मिलकर चुनाव लड़ेंगे. ओमप्रकाश राजभर लगातार भागीदारी मोर्चा के बैनर तले लोगों को जोड़ने की कोशिश मे हैं.

गौरतलब है कि इनके बीच कई बैठकें तो हो चुकी हैं लेकिन सीट शेयरिंग को लेकर अभी तक कोई फैसला नहीं हो पाया है. इसका एक बड़ा कारण चाचा भतीजे के बीच होने वाला समझौता है. चर्चा है कि अखिलेश यादव और शिवपाल यादव के अब तक गठबंधन को लेकर कोई बात नहीं हुई है, इस चक्कर में प्रसपा नेता शिवपाल सिंह यादव दूसरे छोटे दलों के साथ गठबंधन पॉलिटिक्स के गुलदस्ते को सजा नहीं पा रहे हैं.

शिवपाल का सपा से गठबंधन पर फंसा पेंच….
हालांकि, शिवपाल यादव ने अखिलेश को गठबंधन को लेकर 11 अक्टूबर तक सबकुछ फाइनल करने का अल्टीमेटम दिया है. वहीं, ओवैसी और राजभर ने भी शिवपाल को गठबंधन को लेकर अपना स्टैंड साफ करने को कह दिया है ताकि सीट शेयरिंग का फॉर्मूला तय हो सके. ओवैसी के अनुसार दशहरे तक सब कुछ राफ साफ नजर आने लगेगा जब वे फिर एकदूसरे के साथ बैठेंगे.

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

The world is about to receive just the news it needs. My team and I believe that journalism can change the world and we are on a mission to ensure that this happens.

Leave a comment