19.1 C
Delhi
Wednesday, November 30, 2022
No menu items!

यूरोप के सबसे बड़े न्यूक्लियर पावर प्लांट में उठा धुआं, यूक्रेन का दावा- रूसी सेना ने रॉकेट्स से बनाया निशाना

- Advertisement -
- Advertisement -

रूस और यूक्रेन के बीच जारी जंग का आज 9वां दिन है. अब हालात बद से बदतर होते जा रहे हैं. ताकतवर रूस लगातार यूक्रेन को तहस-नहस करने में लगा है. दोनों तरफ से भारी जान माल का नुकसान हो रहा है. इसी बीच खबर है कि यूक्रेन में Zaporizhzhia Oblast प्रांत के एनरहोदर शहर में रूस ने बड़ा हमला कर दिया है. यूक्रेनी अधिकारी का दावा है कि इस अटैक के बाद जेपोरीजिया (Zaporizhzhia) स्थित यूरोप के सबसे बड़े परमाणु ऊर्जा केंद्र से धुएं के गुबार उठते दिखाई दे रहे हैं. 

न्यूज एजेंसी एसोसिएटेड प्रेस ने यूक्रेन के सरकारी अधिकारी के हवाले से बड़ी खबर दी है कि यूरोप के सबसे बड़े परमाणु ऊर्जा केंद्र (Zaporizhzhia Nuclear Power Plant) से धुआं उठता दिखाई दे रहा है. यूक्रेन के विदेश मंत्री दिमित्रो कुलेबा ने आग लगने के बाद रूसी सैनिकों से यूरोप के सबसे बड़े परमाणु ऊर्जा संयंत्र पर हमला बंद करने का आह्वान किया. कुलेबा ने ट्वीट किया, “अगर यह उड़ा, तो यह चोरनोबिल से 10 गुना बड़ा ब्लास्ट होगा! रूसियों को तुरंत आग बंद करनी चाहिए.”

- Advertisement -

रूस ने यूक्रेन के एनरहोदर शहर पर हमला किया है. यूक्रेन में Zaporizhzhia Oblast के उत्तर-पश्चिमी भाग में एनरहोदर  एक शहर और नगरपालिका है. दरअसल, जेपोरीजिया (Zaporizhzhia) से  एनरहोदर कुछ ही दूरी पर स्थित है. Enerhodar, Nikopol और Chervonohryhorivka के सामने, Kakhovka जलाशय के पास नीपर नदी के बाएं किनारे पर स्थित है.

बता दें कि यूक्रेन में Zaporizhzhia परमाणु ऊर्जा संयंत्र में 6 रिएक्टर हैं, जो पूरे यूरोप में सबसे बड़ा और पृथ्वी पर 9वां सबसे बड़ा रिएक्टर माना जाता है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, रूस वर्तमान में इस पर मोर्टार और आरपीजी से हमला कर रहा है. ऊर्जा केंद्र के कुछ हिस्सों में फिलहाल आग लगी हुई है. रूसियों ने दमकलकर्मियों पर भी फायरिंग की है.

दरअसल, रूस और यूक्रेन के बीच लड़ाई निर्णायक मोड़ पर पहुंचती दिखाई नहीं दे रही है. इस जंग में फिर से परमाणु युद्धा का खतरा बढ़ गया है. यूक्रेन पर चढ़ाई के दौरान से ही रूस के निशाने पर यूक्रेन के परमाणु ऊर्जा केंद्र रहे हैं. इससे पहले चेर्नोबिल परमाणु संयंत्र (Chernobyl Nuclear Plant) पर रूसी सैनिकों ने 24 फरवरी 2022 को कब्जा कर लिया था. 

अमेरिका समेत पश्चिमी देश यूक्रेन की मदद कर रहे हैं, और रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन पहले ही चेता चुके हैं कि अगर कोई भी बाहरी बीच में आया तो वो अंजाम होगा, जो पहले कभी देखा नहीं होगा. एक्सपर्ट पुतिन की इसी धमकी को एटमी युद्ध से जोड़कर देख रहे हैं. इंटरनेशनल कैंपेन टू अबॉलिश न्यूक्लियर वेपन यानी ICAN के मुताबिक, अगर अमेरिका और रूस के बीच परमाणु युद्ध छिड़ गया तो मरने वालों की संख्या 10 करोड़ का आंकड़ा पार कर जाएगी.  

- Advertisement -
Jamil Khan
Jamil Khanhttps://reportlook.com/
journalist | chief of editor and founder at reportlook media network
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here