11.9 C
London
Tuesday, May 21, 2024

UAE ने भारतीय पासपोर्ट धारकों को वीजा जारी करने का लिया फैसला

- Advertisement -spot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_img

वैश्विक स्तर पर कम होते कोरोना (Coronavirus) मामलों के बीच कई देशों ने टूरिस्टों के लिये अपने दरवाजे खोल दिये हैं. संयुक्त अरब अमीरात (UAE) ने उन भारतीय पासपोर्ट धारकों को टूरिस्ट वीजा जारी करने की अनुमति देने का फैसला किया है, जो पिछले 14 दिनों से वहां नहीं गए हैं.

सभी यात्रियों को UAE पहुँचने के दिन और उसके 9 दिन बाद कोविड-19 संक्रमण के जांच के लिए पोलीमरेज़ चेन रिएक्शन टेस्ट करना होगा.

याद रहे कि भारत ने इंटरनेशनल कमर्शियल फ्लाइट पर अपना प्रतिबंध 31 अगस्त तक के लिए बढ़ा दिया है,लेकिन कमर्शियल फ्लाइट को उन देशों से आने-जाने की अनुमति है जिनके साथ भारत के द्विपक्षीय “एयर बबल” समझौते हैं.

ऐसे में इंटरनेशनल टूर पर निकलने की सोच रहे भारतीय “ट्रैवेल बफ्फ” को अलग-अलग देशों के विभिन्न गाइडलाइन्स को ध्यान में रखना होगा .हर देश ने प्रतिबंधों और क्वारंटाइन का अपना अलग नियम बना रखा है. तो जानते है किन देशों में आपको किन नियमों का रखना होगा ख्याल 

यूनाइटेड किंगडम

भारत को उन देशों की “रेड लिस्ट” में रखा गया है जो इस समय यूके में प्रवेश नहीं कर सकते हैं. ब्रिटेन की यात्रा के लिए भारतीयों को कोई नया वीजा जारी नहीं किया जा रहा है. यहां तक ​​​​कि जिनके पास लंबी अवधि के वीजा हैं, वे सीधे भारत से यूके नहीं जा सकते हैं और उन्हें पहले उन देशों में से एक की यात्रा करनी पड़ेगी जो “ग्रीन लिस्ट” में हैं और यूके की यात्रा करने से पहले कम से कम 10 दिन वहां बिताना होगा.

जर्मनी

जर्मनी के लेटेस्ट नियमों के अनुसार उन भारतीय यात्रियों को, जो पूरी तरह से वैक्सीनेटेड हैं या जो कोरोना से ठीक होने का सबूत दिखा सकते हैं,उन्हें जर्मनी आने या लौटने पर खुद को क्वारंटाइन करने की जरूरत नहीं होगी.

रूस

भारत से अनवैक्सीनेटेड यात्रियों को रूस पहुंचने पर एक नेगेटिव आरटी-पीसीआर टेस्ट रिपोर्ट प्रस्तुत करना होगा, जिसे वहां पहुंचने के 72 घंटे पहले लिया गया हो. सिंगल एंट्री या डबल एंट्री के लिए टूरिस्ट वीजा 30 दिनों तक के लिए वैध होना चाहिए. भारत से आने वाले यात्रियों को सरकार द्वारा अधिकृत ट्रैवल एजेंसी से निमंत्रण का सबूत दिखाना होगा .

कतर

भारत से कतर पहुंचने वाले यात्रियों को अनिवार्य होटल क्वारंटाइन से गुजरना होगा.यह जानकारी 31 जुलाई को दोहा में भारतीय दूतावास के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से दी गयी. कतर के बाहर एमओपीएच मान्यता प्राप्त वैक्सीन लेने वाले यात्रियों को 10 दिनों के अनिवार्य होटल क्वारंटाइन में रहना होगा, जबकि बिना वैक्सीन के कतर में प्रवेश करने की अनुमति नहीं दी जाएगी .

किन देशों में पहुंचने पर क्वारंटाइन होना अनिवार्य नहीं ?

मालदीव, मिस्र, इथियोपिया, घाना, माली, मोजाम्बिक,सर्बिया, निकारागुआ , नामीबिया, सेनेगल, दक्षिण अफ्रीका,किर्गिस्तान, अफगानिस्तान,इक्वाडोर, पराग्वे, वेनेजुएला, आर्मेनिया, जाम्बिया, अल्बानिया, बोस्निया और हर्जेगोविना, रूस, आइसलैंड, कोस्टा रिका, ग्वाटेमाला, गुयाना और होंडुरास.

किन देशों में पहुंचने पर क्वारंटाइन होना अनिवार्य

रवांडा, मैक्सिको,मोंटेनेग्रो,बारबाडोस, बरमूडा, बहरीन, कतर, तुर्की और पनामा.

- Advertisement -spot_imgspot_img
Jamil Khan
Jamil Khan
जमील ख़ान एक स्वतंत्र पत्रकार है जो ज़्यादातर मुस्लिम मुद्दों पर अपने लेख प्रकाशित करते है. मुख्य धारा की मीडिया में चलाये जा रहे मुस्लिम विरोधी मानसिकता को जवाब देने के लिए उन्होंने 2017 में रिपोर्टलूक न्यूज़ कंपनी की स्थापना कि थी। नीचे दिये गये सोशल मीडिया आइकॉन पर क्लिक कर आप उन्हें फॉलो कर सकते है और संपर्क साध सकते है

Latest news

- Advertisement -spot_img

Related news

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here