गुजरात के आणंद समेत दो शहरों में रामनवमी की शोभायात्रा के दौरान पथराव की खबर है। पथराव के बाद हिंसा भड़क उठी है। इस दौरान आगजनी की घटना भी सामने आई है। पुलिस ने टीयर गैस छोड़ कर उपद्रवियों पर काबू पाया है। इस हिंसा में कई लोगों के घायल होने की खबर है।

गुजरात के हिम्मतनगर और खंभात शहरों में रविवार को रामनवमी के जुलूस के दौरान दो समुदायों के बीच सांप्रदायिक झड़पें हो गईं। जिसके बाद पुलिस को भीड़ को नियंत्रित करने के लिए आंसू गैस के गोले दागने पड़े। इस घटना में दोनों जगहों पर कई दुकानों और वाहनों को क्षतिग्रस्त कर दिया गया है।

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि साबरकांठा जिले के हिम्मतनगर शहर के छपरिया इलाके में दोपहर बाद जब रामनवमी का जुलूस निकला तो दो समुदायों के लोगों ने एक-दूसरे पर पथराव कर दिया। अधिकारी ने कहा- “पुलिस ने स्थिति को नियंत्रित करने के लिए आंसू गैस के गोले दागे। बाद में, स्थिति को नियंत्रण में लाने के लिए शहर के बाहर से अतिरिक्त पुलिस बल को बुलाया गया”।

मिली जानकारी के अनुसार हिम्मतनगर में वीएचपी, रामनवमी के अवसर पर शोभायात्रा निकाल रही थी। इसी दौरान दूसरे समुदाय के साथ भिड़त हो गई और पथराव शुरू हो गया। 

वहीं एक अन्य मामले को लेकर पुलिस नियंत्रण कक्ष के एक अधिकारी ने बताया कि आणंद जिले के खंभात कस्बे में रामनवमी जुलूस के दौरान झड़प हो गई। जिसमें जमकर पथराव किया गया। यहां भी दुकानों और वाहनों को क्षतिग्रस्त कर दिया गया है। पुलिस को जैसे ही मामले की सूचना मिली वो मौके पर पहुंची और यहां भी आंसू गैस के गोले छोड़कर उपद्रवियों पर काबू पाया।

राज्य के दोनों शहरों में पुलिस को मुस्तैद कर दिया गया है, ताकि फिर से हिंसा ना शुरू हो सके। साथ ही आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए भी प्रयास किए जा रहे हैं। कुछ आरोपियों की पहचान कर ली गई है, कुछ की पहचान के लिए पुलिस प्रयास कर रही है।

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

journalist | chief of editor and founder at reportlook media network

Leave a comment