सैन फ्रांसिस्‍को : एलन मस्क को ट्विटर के शेयर की कीमत को प्रभावित करने के आरोप में मुकदमे का सामना करना पड़ रहा है. मस्‍क पर आरोप है कि 44 अरब डॉलर की खरीद बोली से बचने या डिस्‍काउंट को लेकर बातचीत करने की जगह बनाने के लिए ट्विटर के शेयरों की कीमतों को नीचे धकेल रहे हैं. इस मुकदमे में टेस्‍ला के अरबपति बॉस पर आरोप हैं कि उन्‍होंने ट्वीट किए और इस सौदे के बारे में संदेह पैदा करने के इरादे से बयान दिए, जिसने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म को हिला कर रख दिया है.

एक शेयरधारक ने बुधवार को मामला दायर किया है और कार्रवाई की मांग की है. साथ ही सैन फ्रांसिस्‍को की संघीय अदालत से डील की वैधता और शेयर धारकों के नुकसान की भरपाई के लिए कानून के अनुसार फैसले की मांग की है.

मस्क ने पिछले हफ्ते कहा था कि ट्विटर को खरीदने के लिए उनकी बोली तब तक आगे नहीं बढ़ेगी जब तक कि उन्हें प्लेटफॉर्म पर मौजूद स्पैम अकाउंट्स की संख्या का सबूत नहीं मिल जाता, जिससे अनिश्चितता बढ़ गई है.

मस्क ने ट्वीट कर कहा कि ट्विटर को खरीदने का सौदा “अस्थायी रूप से होल्ड पर” है. मुकदमे में तर्क दिया जा रहा है कि यह खरीद अनुबंध ऐसा कुछ करने की अनुमति नहीं देता है.

वर्जीनिया के विलियम हेरेस्नियाक द्वारा दायर मुकदमे में कहा गया है कि मस्क ने अप्रैल के आखिर में इस तरह की बड़ी डील में अपेक्षा के अनुरूप परिश्रम किए बिना ट्विटर पर अधिग्रहण के लिए बातचीत की. मामले में कहा गया है कि मस्क अच्छी तरह से जानते थे कि कुछ ट्विटर खातों को वास्तविक लोगों के बजाय सॉफ्टवेयर “बॉट्स” द्वारा नियंत्रित किया जाता था और कंपनी को खरीदने की पेशकश करने से पहले इसके बारे में ट्वीट भी किया था.

साथ ही दायर मामले में तर्क दिया गया है कि उनका उद्देश्य ट्विटर को बहुत सस्ती कीमत पर प्राप्त करना या बिना किसी पैनल्‍टी के सौदे से बाहर निकलना है. दावे में मस्क पर बाजार में हेरफेर का भी आरोप लगाया गया है.

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

Leave a comment