अंकारा. तुर्की (Turkey)के राष्‍ट्रपति रेसेप तैयप एर्दोगान (Recep Tayyip Erdoğan) को जान से मारने की कोशिश की गई है. तुर्की की मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, पुलिस ने एक कार से बम (Bomb) बरामद किया है, जिसे देश के दक्षिणीपूर्वी प्रांत सिर्त में एर्दोगानके काफिले में तैनात किया जाना था. सिर्त में एक कार्यक्रम में एर्दोगान को शामिल होना था. बताया जा रहा है कि इस बम को पुलिस की सुरक्षा कार के नीचे लगाया गया था.

तुर्की की पुलिस ने यह खुलासा ऐसे समय पर किया है जब देश की अर्थव्‍यवस्‍था रसातल में पहुंच गई है और एर्दोगान आलोचना के घेरे में हैं. तुर्की की पुलिस के बम डिस्‍पोजल दस्‍ते ने बम को नष्‍ट कर दिया है और फरेंसिक एक्‍सपर्ट बम की जांच कर रहे हैं. साथ ही पुलिस वाहन में फिंगर प्रिंट की तलाश की जा रही है. पुलिस गाड़ी में बम लगाकर हत्‍या का प्रयास करने वाले लोगों की तलाश कर रही है. अभी तक किसी की भी गिरफ्तारी नहीं हुई है. इस खुलासे के बाद भी एर्दोगान कार्यक्रम में शामिल हुए. उन्‍होंने अपने भाषण में कहा कि देश और इलाके के भविष्‍य में आतंकवाद के लिए कोई जगह नहीं है.
साल 2016 में एर्दोगान को मारने का प्रयास
एर्दोगान ने कहा कि उनका देश आगे भी देश के अंदर और बाहर आतंकवाद के खात्‍मे तक लड़ाई जारी रखेगा. बताया जा रहा है कि यह कार एक पुलिस अधिकारी की थी, जिसे एर्दोगान के काफिले में शामिल होना था. इस बम का खुलासा उस समय हुआ, जब इस पुलिस अधिकारी के एक दोस्‍त ने देखा कि कार के नीचे कुछ लगा है. इसके बाद उसकी जांच की गई तो बम का खुलासा हुआ.
तुर्की में पहले भी राष्‍ट्रपति एर्दोगान को मारने के प्रयास हो चुके हैं. साल 2016 में एर्दोगान को मारने का प्रयास हुआ था. इस दौरान 50 विद्रोही हेलिकॉप्‍टर से वहां पहुंच गए थे, जहां एर्दोगान छुट्टी मना रहे थे. इन विद्रोहियों के पहुंचने से ठीक पहले एर्दोगान फरार हो गए थे. इस मामले में तुर्की की एक अदालत ने 40 लोगों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी. साजिश रचने वाले लोगों में कई पूर्व सैनिक और आला अफसर शामिल थे.

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

Leave a comment