[email protected]

चीन पर हमला करना चाहते थे ट्रंप, डर के मारे अमेरिकी जनरल ने कर डाली ये गद्दारी!

- Advertisement -
- Advertisement -

वाशिंगटन: अमेरिकी राष्ट्रपति के तौर पर डोनाल्ड ट्रंप के शासनकाल के आखिरी दिनों को लेकर एक सनसनीखेज खुलासा हुआ है। अमेरिकी सेना के शीर्ष जनरल को डर था कि डोनाल्ड ट्रम्प चीन पर हमले का आदेश दे सकते हैं और उन्होंने अपने चीनी समकक्ष को आश्वासन दिया था कि ऐसी स्थिति के मामले में वह पहले ही उसको बता देंगे।

अमेरिका के ज्वाइंट चीफ्स ऑफ स्टाफ के अध्यक्ष जनरल मार्क मिली ने आशंका जताई थी कि अमेरिकी चुनाव में तत्कालीन राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप हार के खतरे को देखते हुए चीन पर हमले का आदेश दे सकते हैं।

इतना ही नहीं, अमेरिका के शीर्ष जनरल ने राष्ट्रपति चुनाव से ठीक पहले और बाद में दो बार अपने चीनी समकक्ष को फोन भी किया। कहा जा रहा है कि अमेरिका के ज्वाइंट चीफ्स ऑफ स्टाफ के चेयरमैन जनरल मार्क मिली ने 30 अक्टूबर, 2020 को पहली बार चीनी सेना के जनरल ली जुओचेंग को फोन किया था।

वाशिंगटन पोस्ट ने खुलासा किया है कि जनरल मार्क मिली ने राष्ट्रपति चुनाव से ठीक 4 दिन पहले और फिर 8 जनवरी को फोन किया था। जनरल मिली को डर था कि ट्रम्प चुनाव से ठीक पहले और चुनावी हार के बाद चीन के साथ युद्ध छेड़ सकते हैं। इससे पहले 6 जनवरी को ट्रंप के समर्थकों ने अमेरिकी संसद के बाहर जमकर हिंसा की थी। अपनी बातचीत के दौरान, जनरल मिली ने चीनी जनरल को आश्वासन दिया कि अमेरिका में स्थिरता है और वे हमला नहीं करने जा रहे हैं।

खुलासा हुआ है कि अमेरिकी जनरल ने सेना के अधिकारियों की एक खुफिया मीटिंग भी बुलाई थी, जिसमें उन्‍होंने कहा था कि अगर चीन पर हमले का आदेश आता है तो उसका पालन नहीं किया जाना चाहिए। उन्‍होंने यह भी कहा कि भले ही यह आदेश राष्‍ट्रपति की तरफ से आया हो।

‘चीन पर हमला भी हुआ तो पहले से करेंगे अलर्ट’
जनरल मिली ने यह भी कहा कि अगर चीन पर हमला भी हुआ तो वह अपने चीनी समकक्ष को पहले ही अलर्ट कर देंगे। वाशिंगटन पोस्ट ने दो पत्रकार बॉब वुडवर्ड और रॉबर्ट कोस्टा की किताब ‘पेरिल’ में यह जानकारी दी गई है। पुस्तक 200 स्रोतों के साथ बातचीत पर आधारित है और इसे अगले सप्ताह जारी किया जाना है।

उधर, डोनाल्ड ट्रंप ने इस खबर पर संदेह जताया है और कहा है कि यह ‘काल्पनिक’ है। डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि अगर यह खबर सच है तो जनरल मिली पर देशद्रोह का मुकदमा चलाया जाना चाहिए।

डोनाल्ड ट्रंप ने कहा, ‘मैं सबूत के तौर पर कह सकता हूं कि मैंने चीन पर हमला करने के बारे में कभी नहीं सोचा था।’

दूसरी ओर, जनरल मिली के कार्यालय ने फोन कॉल के संबंध में किए गए दावे का जवाब नहीं दिया है। इस बीच, रिपब्लिकन सीनेटर मार्को रुबियो ने राष्ट्रपति जो बिडन से जनरल मिली को तुरंत बर्खास्त करने का आग्रह किया है।

फेसबुक पर ताजा ख़बरें पाने के लिए लाइक करे

Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -
×