प्रति वर्ष की भांति इस बार भी गणतंत्र दिवस के उपलक्ष में 25 जनवरी को अजमेर में विश्वविख्यात ख्वाजा साहब की दरगाह के बाहर दरगाह बाजार में तिरंगा रैली निकाली गई। कांग्रेस नेता महमूद खान और पत्रकार नवाब हिदायतउल्ला की पहल पर निकली इस तिरंगा रैली में ऊंटड़ा स्थित मदरसे में पढऩे वाली बालिकाओं ने भी भाग लिया।

रैली में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सीताराम प्रजापति, दरगाह कमेटी के नाज़िम अशफाक हुसैन, खादिमों की संस्था अंजुमन सैय्यद जादगान के सचिव वाहिद हुसैन अंगाराशाह, अंजुमन यादगार के सचिव एहतेशाम चिश्ती, इदिरा दवातुल हक संस्था के मौलाना अयूब कासमी, जिला रसद अधिकारी हीरालाल मीणा, दरगाह थाना प्रभारी दलबीर सिंह, मोहम्मद शब्बीर खान, काजी मुन्नवर अली, हाली फैय्याज उल्ला आदि भी उपस्थित रहे। रैली शुरू होने से पहले सभी अतिथियों और मदरसे की बालिकाओं को तिरंगे झंडे दिए गए।

ख्वाजा साहब की दरगाह के मुख्य द्वार से रैली धान मंडी तक निकली। रैली में सभी लोगों ने देश भक्ति के नारे लगाए। दरगाह बाजार में हमेशा जायरीन की भीड़ रहती है। रैली निकलने से पूरे बाजार का माहौल देश भक्ति पूर्ण हो गया। इस अवसर पर दरगाह नाजिम अशफाक हुसैन ने कहा कि युवा पीढ़ी को आजादी का महत्व समझना चाहिए। स्वतंत्रता सैनानियों ने लम्बा संघर्ष कर आजादी हासिल की है। स्वतंत्रता सैनानियों ने जो कुर्बानी दी, उसी का परिणाम है कि आज हम आजाद देश में रह रहे हैं।

देश के प्रत्येक नागरिक को अधिकार मिले हुए हैं। उन्होंने कहा कि आजादी के महत्व को बनाए रखने की जिम्मेदारी हम सबकी है। जब हम अपने अधिकारों की बात करते हैं, तब हमें अपने कर्तव्यों का भी पालन करना चाहिए। उन्होंने कहा कि 26 जनवरी का दिन गणतंत्र दिवस के पर्व का दिन है, इसे हम सभी को एकजुट होकर मनाना चाहिए। रैली के आयोजकों का आभार प्रकट करते हुए हुसैन ने कहा कि ऐसे आयोजन देशभक्ति की भावना को बढ़ावा देते हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *