लखनऊ। चिनहट पुलिस टीम ने ग्रामीण महिला कल्याण संस्थान एवं प्रधानमंत्री सिलाई मशीन योजना 2020-21 के नाम पर फर्जी संस्था खोलकर ठगी करने वाले अंतरराज्यीय गिरोह का भंडाफोड़ करते हुए गिरोह के तीन शातिर अभियुक्तों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। पकड़े गए अभियुक्तों के पास से पुलिस ने फर्जी दस्तावेज, रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट, मोहरे, आईडी कार्ड सहित भारी मात्रा में सामान बरामद किया है।

पकड़े गए शातिर अभियुक्तों के खिलाफ पुलिस ने कार्रवाई करते हुए उन्हें जेल भेज दिया। पुलिस गिरोह के अन्य सदस्यों के बारे में जानकारी जुटाकर आगे की कार्रवाई करने में जुटी हुई है। बता दें कि कमिश्नर डीके ठाकुर के निर्देशन में कमिश्नरेट पुलिस ताबड़तोड़ कार्रवाई कर अपराधियों को सलाखों के पीछे भेज रही है।

इन तीन जालसाजों को पुलिस ने दबोचा

पुलिस उपायुक्त कासिम अब्दी ने बताया कि प्रभारी निरीक्षक चिनहट धनंजय कुमार पांडे के टीम ने थाने पर दर्ज धोखाधड़ी के मामले में अभियुक्त वेद प्रकाश भारती पुत्र मुंशीलाल निवासी रामनगर थाना बिल्सी बदायूं, हालपता गायत्री नगर कॉलोनी राजाजीपुरम, वीरेंद्र कुमार गंगवार पुत्र हरीश कुमार निवासी परेवा कुर्मियां हाफिज गंज बरेली, हालपता गायत्री नगर राजाजीपुरम और राज प्रताप सिंह पुत्र विश्वनाथ सिंह निवासी हलवा पिपरा थाना सिंह वालिया गोपालगंज बिहार, हालपता शिवपुरी कॉलोनी कामता चिनहट को गिरफ्तार किया है।

पकड़े गए तीनों अभियुक्तों के जैसे ग्रामीण महिला कल्याण संस्थान एवं प्रधानमंत्री सिलाई मशीन योजना 2020-21 के नाम पर फर्जी रजिस्ट्रेशन व फर्जी दस्तावेजों के आधार पर संस्था खोल कर लोगों को नौकरी योजना में लाभान्वित कराने के नाम पर धोखाधड़ी करते हुए रुपए प्राप्त करते थे तथा काफी संख्या में लोगों से रुपए प्राप्त करने के बाद अचानक कार्यालय बंद कर फरार हो जाते थे। पुलिस ने तीनों अभियुक्तों को गिरफ्तार कर सलाखों के पीछे पहुंचा दिया।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *