[email protected]

भारतीय पत्रकार दानिश सिद्दीक़ी की मौत में कोई हाथ होने से तालिबान ने किया इनकार

- Advertisement -
- Advertisement -

भारतीय फोटो पत्रकार दानिश सिद्दीकी (Danish Siddiqui) की हत्या को लेकर तालिबान (Taliban) ने कहा है कि संगठन का इसमें कोई रोल नहीं है. तालिबान ने कहा है कि इसे नहीं मालूम है कि भारतीय पत्रकार दानिश सिद्दीकी की हत्या कैसे हुई है. संगठन ने पुलित्जर (Pulitzer) पुरस्कार विजेता पत्रकार की मौत पर खेद व्यक्त किया है. तालिबान के प्रवक्ता जबीउल्लाह मुजाहिद (Zabiullah Mujahid) ने CNN-News18 से बात करते हुए कहा, ‘हमें नहीं पता कि किसकी फायरिंग के चलते पत्रकार की मौत हुई है. हम नहीं जानते हैं कि उनकी मृत्यु कैसे हुई है.’

तालिबान प्रवक्ता ने कहा, ‘युद्ध क्षेत्र में प्रवेश करने वाले किसी भी पत्रकार को हमें सूचित करना चाहिए. हम उस व्यक्ति विशेष की उचित देखभाल करेंगे.’ उन्होंने कहा, ‘भारतीय पत्रकार दानिश सिद्दीकी के निधन पर हमें खेद है. हमें खेद है कि पत्रकार हमें सूचित किए बिना युद्ध क्षेत्र में प्रवेश कर रहे हैं.’ रॉयटर्स के लिए फोटो पत्रकार के रूप में काम करने वाले दानिश सिद्दीकी की शुक्रवार को हत्या कर दी गई, जब वह पाकिस्तान के करीब एक बॉर्डर क्रासिंग पर अफगान सुरक्षा बलों और तालिबान लड़ाकों के बीच हो रही झड़प को कवर कर रहे थे. मारे गए पत्रकार का शव शुक्रवार शाम करीब 5 बजे (स्थानीय समयानुसार) रेड क्रॉस की अंतरराष्ट्रीय समिति (ICRC) को सौंप दिया गया.

रॉयटर्स ने जयाता हत्या पर दुख

अफगान कमांडर ने समाचार एजेंसी रॉयटर्स को बताया कि अफगान स्पेशल फोर्स स्पिन बोल्डक के मुख्य बाजार को वापस अपने कब्जे में लेने के लिए लड़ रही थी. इसी दौरान तालिबान की क्रॉस फायरिंग में दानिश सिद्दीकी और एक वरिष्ठ अफगान अधिकारी की मौत हो गई. रॉयटर्स के अध्यक्ष माइकल फ्रीडेनबर्ग और एडिटर-इन-चीफ एलेसेंड्रा गैलोनी ने एक बयान में कहा, हम इस क्षेत्र में अधिकारियों के साथ काम करते हुए तत्काल अधिक जानकारी मांग करते हैं. दानिश एक उत्कृष्ट पत्रकार, एक समर्पित पति और पिता और एक बहुत प्यार करने वाले सहयोगी थे. इस भयानक समय में हमारी संवेदनाएं उनके परिवार के साथ हैं.

भारतीय अधिकारी दानिश के शव को वापस लाने में जुटे

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, घटना की जानकारी रखने वाले लोगों ने कहा कि तालिबान ने दानिश सिद्दीकी के शव ICRC को सौंप दिया है. भारत को तालिबान द्वारा ICRC को शव सौंपे जाने के बारे में सूचित कर दिया गया है और भारतीय अधिकारी शव की स्वदेश वापसी पर काम कर रहे हैं. वहीं, एएफपी संवाददाता ने बताया कि स्पिन बोल्डक में हुई झड़प के बाद दर्जनों घायल तालिबान लड़ाकों को सीमा के नजदीक पाकिस्तान के अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती किया गया है. स्पिन बोल्डक के निवासियों का कहना है कि यहां पर भयंकर गोलीबारी हुई थी.

फेसबुक पर ताजा ख़बरें पाने के लिए लाइक करे

Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -
×