ट्विटर पर गाना ऐप का विरोध हुआ शुरू, नबी की शान में गुस्ताखी से जुड़ा है मामला

टेक्नोलॉजीट्विटर पर गाना ऐप का विरोध हुआ शुरू, नबी की शान में गुस्ताखी से जुड़ा है मामला

नई दिल्ली: सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्विटर (Twitter) पर गाना ऐप (Gaana App) के खिलाफ लोगों का गुस्सा देखने को मिल रहा है।

माइक्रो ब्लॉगिंग सोशल साइट पर आज #Boycott_GaanaApp ट्रेंड कर रहा है। गाना ऐप पर नफरत को फैलाना वाले गानों को बढ़ावा देने का आरोप है। 

दरअसल, आरोप है कि गाने के इस प्लेट फॉर्म में गुस्ताख-ए-नबी की एक ही साजा, सर तन से जुदा नारे, और धार्मिक कट्टरपंथियों द्वारा सिर काटने का महिमामंडन करने वाले गीतों स्ट्रीम किया जा रहा है। ऐसे में कई यूजर इस गाने को गाना ऐप के द्वारा हटाने की मांग कर रहे हैं। हालांकि इस संबंध में गाना ऐप की तरफ से कोई बयान जारी नहीं किया गया है।

आपको बता दे की हाल ही के दिनों में मुस्लिम विरोधी गानों और कलाकारों का भी भारी संख्या में उदय हुआ है जो यूट्यूब जैसे मंचो पर धड़ले से अपलोड किए जा रहे और डी जे पर बजाए जा रहे है जिसकी वजह से कई बार सांप्रदायिक घटनाएं भी हुई है

राधे-राधे नाम का एक ट्विटर यूजर लिखता है, ‘सर तन से जुदा’ के परेशान करने वाले नारे, जिसके कारण कई हत्याएं हुईं, अब सड़कों तक ही सीमित नहीं हैं। वे अब प्रमुख संगीत प्लेटफार्मों में प्रवेश कर चुके हैं और हिंदुओं को परोक्ष रूप से धमकियां देने के लिए लघु वीडियो में डाउनलोड किए जा रहे हैं।

एक अन्य यूजर ने लिखा है- हिंदुओं के खिलाफ हिंसा भड़काने वाले इन सामाजिक मंचों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जानी चाहिए।
इससे पता चलता है कि ये संगीत मंच हिंदू विरोधी और भारत विरोधी हैं और वे राष्ट्र की अखंडता के लिए गंभीर खतरा पैदा कर रहे हैं।

आपको बता दें कि यह सर तन से जुदा करने वाला गाना केवल गाना ऐप के प्लेटफॉर्म पर नहीं है, बल्कि अन्य प्लेटफॉर्म में यह गाना है। यूजर्स ने इन सभी मंचों से इस विवादित गाने को हटाने की मांग की गई है। इससे पहले उदयपुर में हुई दर्जी कन्हैया लाल की हत्या करने वाले गौस मोहम्मद और रियाज अख्तरी ने हत्या करने के बाद ये नारे लगाए थे।

Check out our other content

Check out other tags:

Most Popular Articles