बॉलीवुड के सीरियल किसर और बेहतरीन एक्टर इमरान हाशमी आज अपना 43वां जन्मदिन मना रहे हैं। उन्होंने अपने फिल्मी करियर की शुरुआत साल 2003 में फिल्म ‘फुटपाथ’ से की थी। इसके बाद उन्होंने मर्डर, आशिक बनाया आपने, अकसर जैसी कई हिट फिल्में दीं। बॉलीवुड में उनकी छवि सीरियल किसर की है। लेकिन निजी जिंदगी में वो बेहस साधारण व्यक्ति हैं।

पंडित की बात मानकर बदला था नाम: कम ही लोग जानते हैं कि इमरान हाशमी ने फिल्म में डेब्यू करने से पहले अपना नाम बदला था। पंडित ने उन्हें सुझाव दिया था कि या तो वो अपना नाम फरहान रख लें, या फिर इमरान में से एक ए निकाल दें। जिसपर उन्होंने अपना नाम फरहान रख लिया था।

पहली फिल्म से निकाल दिए गए थे इमरान: साल 2001 में वो फिल्म ये जिंदगी का सफर में डेब्यू करने वाले थे। बाद में फिल्ममेकर को लगा कि वो उस रोल के लिए सही नहीं थे। जिसके बाद इमरान को फिल्म से निकाल दिया गया। जिसके बाद उन्होंने अपना नाम वापस इमरान कर लिया।

एंक्टर नहीं बनना चाहते थे इमरान हाशमी: अपने हर किरदार में खो जाने वाले इमरान कभी एक्टर नहीं बनना चाहते थे। वो फिल्मी दुनिया की चकाचौंद से दूर रहना चाहते थे। एक्टर बनने से पहले उन्होंने दमदार एक्टर कभी भी एक्टिंग की इस रंगीन दुनिया में कदम नहीं रखना चाहता था। वह इस फील्ड में अचानक ही आ गए थे।

कैमरा फेस करने से लगता है डर: करीब 40 फिल्मों में बेहतरीन एक्टिंग करने के बाद भी इमरान हाशमी कैमरे से डरते हैं। उन्होंने खुद बताया था कि उन्हें कैमरा फेस करने में बहुत डर लगता है। लेकिन इसके बावजूद इमरान बचपन से ही एक्टिंग करते आए हैं। एक्टर ने बतौर चाइल्ड आर्टिस्ट कई टीवी एड्स में काम किया है। उन्हें लगता था कि लोग उन्हें जज करेंगे। उन्हें लगता था कि क्या ये इंडस्ट्री उनके लिए सही है या नहीं?

हिंदी फिल्में नहीं देखते इमरान: कॉफी विद करण पर इमरान बतौर गेस्ट बनकर पहुंचे थे। जहां उन्होंने बताया था कि वो हिंदी फिल्में नहीं देखते। उन्होंने केवल एक-दो हिंदी फिल्में ही देखी हैं। वो अग्रेजी फिल्में देखना पसंद करते हैं।

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

journalist | chief of editor and founder at reportlook media network

Leave a comment