Loudspeaker Controversy: महाराष्ट्र (Maharashtra) की तर्ज पर कर्नाटक में भी लाउडस्पीकर को लेकर अभियान की शुरुआत हो गयी है. श्री राम सेना के प्रमुख प्रमोद मुथालिक ने 15 दिन पहले चेतावनी दी थी कि यदि लाउडस्पीकर को ले कर कोर्ट के आदेश का पालन नहीं हुआ, तो 9 मई से कर्नाटक में मंदिरों से भी लाउडस्पीकर से भजन कीर्तन और हनुमान चालीसा का पाठ शुरू किया जाएगा।

कई जगह लाउडस्पीकर से हुए भजन कीर्तन

हिंदू नेता के इसी अभियान के तहत कर्नाटक के अलग-अलग हिस्सों से लाउड स्पीकर के विरोध में भजन कीर्तन की तस्वीरें आने लगी है. श्री राम सेना प्रमुख प्रमोद मुथालिक ने खुद इस अभियान की शुरुआत मैसूरु में की. उन्होंने सुबह 5 बजे मैसूर जिले के एक मंदिर में कार्यक्रम का उद्घाटन किया. उन्होंने दावा किया कि मस्जिदों में अजान के खिलाफ 1,000 से अधिक मंदिरों में हनुमान चालीसा पढ़ी गई.

श्री राम सेना प्रमुख ने शुरू किया अभियान

श्री राम सेना प्रमुख के अभियान के चलते हिंदू कार्यकर्ताओं ने सोमवार को राज्य भर में अजान के खिलाफ हनुमान चालीसा पढ़ने का अभियान शुरू किया है, जिसके बाद कर्नाटक पुलिस हाई अलर्ट पर है. पुलिस ने उन कार्यकर्ताओं को हिरासत में ले लिया है, जो बेंगलुरु के एक मंदिर में हनुमान चालीसा का जाप शुरू करने के लिए तैयार थे.

राज्य में बढ़ी सुरक्षा

पूरे राज्य में सुरक्षा बढ़ा दी गई है क्योंकि इस मुद्दे पर सांप्रदायिक झड़पें हो सकती हैं. मुथालिक ने घोषणा की है कि कार्यकर्ता आने वाले दिनों में मंदिरों में प्रार्थना अभियान तेज करेंगे. उन्होंने अजान के खिलाफ कार्रवाई करने में सरकार की लाचारी पर सवाल उठाया था, जो संविधान और कानून के खिलाफ है।

‘कानून से ऊपर कोई नहीं’

उन्होंने दावा किया कि मरीजों, छात्र सुबह की अजान से परेशान हैं. कांग्रेस ने मुसलमानों को यह महसूस कराया है कि वे कानून से ऊपर हैं. कांग्रेस ने भी मुसलमानों का डर पैदा किया है. कानून को बरकरार रखा जाना चाहिए और कोई भी कानून से ऊपर नहीं है. कार्यकर्ताओं ने भक्ति प्रार्थना शुरू की और ‘जय श्री राम’, ‘जय हनुमान’ और ‘भारत माता की जय’ के नारे लगाए. उन्होंने राज्य भर में सुबह 5 बजे अपनी प्रार्थना शुरू की और सुबह 6 बजे पूरी की.

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

Leave a comment