दिल्ली के कुतुब मीनार (Qutub Minar) को लेकर नया विवाद सामने आया है. कुतुब मीनार की मस्जिद के इमाम ने दावा किया है कि मुगल मस्जिद जो कि कुतुब मीनार के अंदर है, वहां ASI ने नमाज बंद करा दी है. हालांकि इमाम ने ये कहा है कि इसको लेकर कोई लिखित आदेश नहीं है. इमाम का दावा है कि नमाज रोके जाने के पीछे ताजा विवाद है, जिसमें कुतुब मीनार के विष्णु स्तंभ होने का दावा किया गया है. 

इमाम ने किया नमाज रुकवाने का दावा

आरोप है कि कुतुब मीनार की मुगल मस्जिद में पिछले कई दशकों से नमाज हो रही है, लेकिन अब वहां ASI ने नमाज बंद करा दी है. इसके लिए कोई लिखित आदेश नहीं है, लेकिन 13 मई को और उसके बाद से अब तक यहां मौलाना और उनके सहयोगियों को नमाज नहीं पढ़ने दी जा रही है. मौलाना का मानना है कि इसके पीछे मौजूदा विवाद कारण है.

वक्फ बोर्ड और पुलिस को लिख चुके हैं पत्र

नमाज दोबारा शुरू करने के लिए मौलाना वक्फ बोर्ड, दिल्ली पुलिस और अन्य कई लोगों को पत्र लिख चुके हैं. उनका कहना है कि जल्द नमाज नहीं शुरू हुई तो वो कोर्ट का दरवाजा खटखटाएंगे.

ASI ने कोर्ट में दाखिल किया जवाब

बता दें कि कुतुब मीनार परिसर में पूजा की अनुमति देने वाली याचिका पर दिल्ली की साकेत कोर्ट में ASI ने जवाब दाखिल किया. ASI ने कहा कि जब ASI ने स्मारक पर नियंत्रण लिया था, तब वहां पूजा नहीं होती थी. कानूनन संरक्षित स्मारक में पूजा का कोई प्रावधान नहीं है. इसलिए ये याचिका खारिज की जाए. ASI ने कहा है कि कुतुब मीनार 1914 से एक संरक्षित मॉन्यूमेंट है.

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

journalist | chief of editor and founder at reportlook media network

Leave a comment