पटना. राजद के पूर्व सांसद रहे स्वर्गीय शहाबुद्दीन (RJD Leder Shahabuddin) की पत्नी और राजद नेत्री हीना शहाब की तबियत बिगड़ गई है. मंगलवार की रात पटना के पारस अस्पताल में शहाबुद्दीन की पत्नी हीना शहाब को एडमिट कराया गया. सीवान में तबियत ज्यादा खराब होने के बाद उनको पटना के पारस अस्पताल (Paras Hospital Patna) में लाया गया. जानकारी के मुताबिक हीना शहाब को डिहाइड्रेशन और डिप्रेशन की शिकायत थी और इसी कारण उनकी तबियत बिगड़ी जिसके बाद उन्हें अस्पताल लाया गया.

 
सूचना के मुताबिक सोडियम और पोटैशियम की भी कमी बताई जा रही है. डॉक्टरों का कहना है कि हीना का तबियत में तेजी से सुधार हो रहा है और अगले दिन तक राहत महसूस करने लगेंगी. हीना शहाब के पुत्र ओसामा भी मां की तबियत बिगड़ने के बाद समर्थकों के साथ सीवान से पटना पहुंचे.

विधायकों के साथ पहुंचे तेजस्वी

इस दौरान जैसे ही नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव को इस बात की सूचना मिली वो देर रात 10 बजे हीना शहाब का हालचाल जानने के लिए पटना के पारस अस्पताल पहुंचे. मिली जानकारी के मुताबिक तेजस्वी यादव की मुलाकात हीना से नहीं हो पाई लेकिन तकरीबन आधे घंटे तक शहाबुद्दीन के बेटे ओसामा से तेजस्वी ने मुलाकात की और हीना शहाब का हालचाल जाना.

इस दौरान राजद के दर्जनों विधायक तेजस्वी के साथ पारस अस्पताल पहुंचे थे. राजद के पूर्व सांसद शहाबुद्दीन की कोरोना से हुई मौत के बाद लालू परिवार पर उपेक्षा के आरोप लगे थे जिसके बाद पार्टी के कई नेताओं ने बमुश्किल डैमेज कंट्रोल करते हुए मुद्दे को संभाला था.

कुछ महीने पहले ही शहाबुद्दीन की हुई है मौत

अपने दबंग छवि के लिए जाने जाने वाले आरजेड़ी नेता शहाबुद्दीन की मृत्यु कुछ महीने पहले ही 1 मई 2021 को दिल्ली में हो गई थी. तिहाड़ जेल में बंद रहने के बाद कोरोना के लक्षण मिलने के बाद तत्काल अस्पताल में भर्ती कराया गया था जहां उनकी मौत हो गई.

शहाबुद्दीन की मौत के बाद सीवान में पुत्र ओसामा और पत्नी हीना शहाब ही सारी जिम्मेदारी संभाल रहे हैं. शहाबुद्दीन की मौत के बाद कई नेता सीवान जाकर परिवार से मिले थे और सांत्वना दी थी. इस बीच यह भी चर्चा रही थी कि हीना शहाब आरजेडी से नाराज हैं. बाद में तेजप्रताप यादव ने सीवान जाकर परिवार से मुलाकात की थी.

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

The world is about to receive just the news it needs. My team and I believe that journalism can change the world and we are on a mission to ensure that this happens.

Leave a comment