अलीगढ़ (Aligarh) नव संवत्सर व चैत्र नवरात्र के मौके पर हिन्दू महासभा ने एक फर्जी विवादित कैलेंडर जारी किया है. इस कैलेंडर में ताजमहल (Tajmahal) को तेजो महालय, मक्का को मक्केश्वर महादेव मंदिर, कुतुबमीनार को विष्णु स्तम्भ बताया है.

करीब 6 मस्जिद व मकबरों को हिन्दू धार्मिक स्थल बताए गए हैं. इस मौके पर साध्वी पूजा शकुन पांडेय ने कहा राम मंदिर बन रहा है, अब कृष्ण जन्मभूमि समेत अन्य की बारी है.

आगे उसने कहा कि हमारी धरोहर को अतिक्रमण करके विधर्मियों ने मस्जिद बना दी और उस पर अपना ठप्पा लगाया. हमारा देश गुलाम रहा तो उसकी एक पहल में हमने अपनी सारी धरोहर को एक कैलेंडर के माध्यम से दिखाया था और कहा था कि इन पर हमारा अधिपत्य होना चाहिए. यह सनातन धर्म की धरोहर है. हम संतों का काम है कि उनको सेवा पूजा स्थल बनाएं.

उसमें श्री राम मंदिर भी था और खुशी की बात यह है कि 4 साल पहले हमें श्री राम मंदिर वापस मिल गया. हम भगवान राम को उनका स्थान देने में सफल रहे. अब हमने फिर एक कैलेंडर निकाला है, जिसमें हमने भगवान श्री राम का मंदिर नहीं रखा है. उन्होंने कहा, इसमें मक्का मदीना है जो मक्केश्वर महादेव मंदिर है. कुतुब मीनार जो है विष्णु स्तंभ है. अब श्री कृष्ण जन्म भूमि की बारी है.

मंदिर पर हमले को लेकर कही ये बात

महामंडलेश्वर अन्नपूर्णा भारती उर्फ पूजा शकुन पांडे ने गोरखनाथ मंदिर पर हमले को लेकर कहा कि हम लोग बहुत पहले से कहते आ रहे हैं यह विधर्मी किसी के नहीं है. जो सरकारी आंकड़े हमको बताए जा रहे हैं उन सरकारी आंकड़ों में यह अल्पसंख्यक हैं, जबकि असल में वह बहुसंख्यक हो चुके हैं. उन्होंने कहा, सोमवार को गोरखपुर में मदिर पर जो हमला हुआ है उससे क्या लगता है कि यह लोग डरे हुए हैं. जब योगी और मोदी हैं तब यह हाल है. सोचिए यह लोग क्या करने पर आमादा हैं. उनके मंसूबे कितने खतरनाक हैं.

मानसिक विक्षिप्त नहीं है आरोपी

गोरखनाथ मंदिर के आरोपी को मानसिक विक्षिप्त बताए जाने पर उसने कहा कि मानसिक विक्षिप्त के नाम पर उस को क्लीन चिट मिल जाएगी. यह बहुत आसान तरीका है बचने का. वह मानसिक विक्षिप्त नहीं है यह पहले से प्लानिंग है.

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

journalist | chief of editor and founder at reportlook media network

Leave a comment