[email protected]

पंजशीर का किला भी फतह ! तालिबान ने गवर्नर हाउस पर फहराया इस्लामिक अमीरात का झंडा

- Advertisement -
- Advertisement -

नई दिल्ली: पाकिस्तान की तरफ से की गई एयर स्‍ट्राक की मदद से तालिबान ने पंजशीर पर कब्जा कर लिया है। तालिबान की तरफ से जारी किए गए एक वीडियो में उसके लड़ाके पंजशीर के गवर्नर कार्यालय के ऊपर इस्लामिक अमीरात का झंडा फहराते हुए देखे जा सकते हैं।

तालिबान की तरफ से कहा गया है कि मरकज़ बाज़ारक को भी इस्लामिक अमीरात की सेना ने कब्जा कर लिया है। इसके साथ, पंजशीर प्रांत इस्लामिक अमीरात के पूर्ण नियंत्रण में आ गया और वरिष्ठ कमांडरों सहित कई नॉर्दन अलायंस के लड़ाकेद मारे गए। अहमद मसूद और अमरुल्ला सालेह अभी लापता हैं।

तालिबान के प्रवक्ता जबीहुल्लाह मुजाहिद ने एक बयान में कहा, “पंजशीर प्रांत पूरी तरह से जीत लिया गया था। पंजशीर में प्रतिरोध बल के कई सदस्यों को मारा गया जबकि बाकी भाग गए।” उन्होंने दावा किया कि पंजशीर के “उत्पीड़ित और सम्मानित लोगों” को बंधकों से मुक्त किया गया है।

रविवार की देर रात, तथाकथित राष्ट्रीय प्रतिरोध मोर्चा (NRF) (तालिबान विरोधी मिलिशिया और पूर्व अफगान सुरक्षा बलों से बना) ने पंजशीर में युद्ध के मैदान में बड़े नुकसान को स्वीकार किया और संघर्ष विराम का आह्वान किया।

एनआरएफ में प्रसिद्ध सोवियत विरोधी और तालिबान विरोधी कमांडर अहमद शाह मसूद के बेटे अहमद मसूद के प्रति वफादार स्थानीय लड़ाके शामिल हैं।

समूह ने रविवार को एक ट्वीट में कहा कि एक प्रसिद्ध अफगान पत्रकार प्रवक्ता फहीम दश्ती और जनरल अब्दुल वुडोद ज़ारा नवीनतम लड़ाई में मारे गए हैं।

एनआरएफ ने तालिबान से लड़ने की कसम खाई थी, लेकिन यह भी कहा कि वह इस्लामवादियों के साथ बातचीत करने को तैयार है। लेकिन शुरुआती संपर्क में सफलता नहीं मिली।

पंजशीर घाटी 1980 के दशक में सोवियत सेना और 1990 के दशक के अंत में तालिबान के प्रतिरोध की साइट होने के लिए प्रसिद्ध है।

फेसबुक पर ताजा ख़बरें पाने के लिए लाइक करे

Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -
×