भारत विरोधी बयान देने और मालदीव में ‘इंडिया आउट’ कैंपेन चला रहे मालदीव के पूर्व राष्ट्रपति अब्दुल्ला ने कहा है कि मौजूदा वक्त में इजरायल और भारत के बीच कोई अंतर नहीं है।

उन्होंने कहा है कि भारत की आज की हरकतें इजरायल के बराबर हैं।

‘ऐसा हिन्दुस्तान बनाना चाहते हैं जहां सिर्फ हिंदू रहे’

यामीन ने कहा है कि अभिव्यक्ति की आजादी के तहत भी किसी को भी दूसरों के धर्म और संस्कृति का अनादर करने का मौका नहीं दिया जाना चाहिए। हिंदुओं द्वारा पैगंबर की निंदा करना सिर्फ संयोग नहीं है। वह एक ऐसा हिंदुस्तान बनाना चाहते हैं जहां सिर्फ हिंदुओं को रहना चाहिए।

यामीन का रहा है भारत विरोधी इतिहास

2013-18 के दौरान यामीन मालदीव के राष्ट्रपति थे। उस दौरान मालदीव और भारत के बीच संबंध बहुत खराब हो गए थे। रणनीतिक रूप से बेहद महत्वपूर्ण लामू और अड्डू एटोल से भारत को दो हेलीकॉप्टरों वापस लेने पड़े थे। इसी दौरान यामीन भारत का विरोध करते हुए चीन को मालदीव में जगह देते रहे।

भारतीयों के खिलाफ नफरत पैदा कर रहे यामीन

यामीन और उनकी पार्टी मालदीव में भारत के विरोध में प्रदर्शन कर रही है। हाल के दिनों में उन्होंने मालदीव में भारतीय उच्चायुक्त के घर के सामने भी कई बार विरोध-प्रदर्शन किया है। रिपोर्ट्स बताती है कि यामीन ने भारतीयों के खिलाफ इतनी नफरत पैदा कर दी है कि मालदीव में काम करने वाले भारतीयों को भी परेशान किया जा रहा है।

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

journalist | chief of editor and founder at reportlook media network

Leave a comment