6.2 C
London
Friday, March 1, 2024

पूर्व सीएम कमलनाथ ने मिर्ची बाबा को गौमूत्र पिलाकर अनशन तुड़वाया

- Advertisement -spot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_img

भोपाल, 26 जनवरी : मध्य प्रदेश में गौवंश की सुरक्षा, उनके भरण-पोषण ,गौशालाओं के निर्माण ,गौवंश के संरक्षण , संवर्धन को लेकर सात दिन से अनशनरत मिर्ची बाबा का अनशन पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ ने गंगाजल व गौमूत्र पिलाकर तुड़वाया. राजधानी के मिनाल रेसीडेंसी में संत मिर्ची बाबा का पिछले सात दिन से अनशन चल रहा था. पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मौके पर पहुॅचकर मिर्ची बाबा केा गंगाजल व गोमूत्र पिलाकर उनका अनशन तुड़वाया.

इस अवसर पर मिर्ची बाबा ने कमलनाथ से कहा कि 15 माह की आपकी सरकार के काल में गौवंश के संरक्षण व संवर्धन को लेकर कई उल्लेखनीय व ऐतिहासिक कार्य हुए थे. आपकी सरकार ने प्रदेश में 1000 गौशालाओं का निर्माण कार्य करवाया ,गौवंश के लिए चारे की राशि को बढ़ाया और वहीं वर्तमान शिवराज सरकार जो खुद को धर्म प्रेमी सरकार बताती है, उस सरकार में आज गोवंश सड़कों पर घूम कर दुर्घटना का शिकार हो रहा है ,उसे खाने को चारा नहीं मिल रहा है.

कमलनाथ ने मिर्ची बाबा अनशन तुड़वाकर उनसे कहा कि “मेरा संकल्प है कि प्रदेश में गौवंश सुरक्षित रहे , इसलिए मेरी सरकार ने आते ही प्रदेश में 1000 गौशालाओं का निर्माण कार्य प्रारंभ कराया , उनके चारे की राशि को बढ़ाया ,उनके संरक्षण व संवर्धन के लिए कई निर्णय लिए और हम आपको विश्वास दिलाते हैं जिस उद्देश्य को लेकर आपने अनशन किया है ,उस उद्देश्य को हम सरकार में आते ही अवश्य पूरा करेंगे.”

कमल नाथ ने वादा किया कि “हमारा संकल्प है कि प्रदेश में गौवंश सुरक्षित रहे, उनकी सुरक्षा व संवर्धन के लिए हम सभी आवश्यक कदम उठाएंगे और गौमाता को सड़कों पर दुर्घटना का शिकार नहीं होने देंगे.”

- Advertisement -spot_imgspot_img
Jamil Khan
Jamil Khan
जमील ख़ान एक स्वतंत्र पत्रकार है जो ज़्यादातर मुस्लिम मुद्दों पर अपने लेख प्रकाशित करते है. मुख्य धारा की मीडिया में चलाये जा रहे मुस्लिम विरोधी मानसिकता को जवाब देने के लिए उन्होंने 2017 में रिपोर्टलूक न्यूज़ कंपनी की स्थापना कि थी। नीचे दिये गये सोशल मीडिया आइकॉन पर क्लिक कर आप उन्हें फॉलो कर सकते है और संपर्क साध सकते है

Latest news

- Advertisement -spot_img

Related news

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here