पुर्णिया जिले के नगर थाना क्षेत्र के गनेशपुर डहरिया आदिवासी टोला के लोग लगातार बिजली के आँख मिचौली से परेशान थे। भीषण गर्मी में लोग इसको लेकर सरकार को कोस रहे थे। हर 2 3 दिन में गाँव की बिजली 2 3 घंटे के लिए गायब हो जाया करती थी, जबकि इसके आसपास के गाँव मे बिजली रहती थी। वहीं बिजली कटने की वजह जब लोगो को पता चला तो सभी हैरान रह गए ।

दरअसल परोरा गाँव का रहने वाला बिजली मिस्त्री सुरेंद्र राय का प्रेम प्रसंग आदिवासी जमाई टोला के आदिवासी युवती से था। बिजली मिस्त्री को जब भी युवती से प्यार करने का मन होता था वह गाँव का बिजली काटकर अंधेरे का फायदा उठाकर दोनो रंगरेलिया मनाते थे। इस बात की भनक युवती के पड़ोसी को लग गई। फिर जैसे ही गाँव की बिजली कटी लोगो को पता चल गया कि फिर दोनों मिलने वाले है।

जिसके बाद गाँव वालों ने दोनों को रंगे हाथ पकड़ने की योजना बनाई।इधर बिजली कटने पर युवती भी अपने आशिक का सिग्नल मिलते ही तैयार थी। जैसे ही बिजली मिस्त्री युवती के घर मे घुसा ग्रामीणों ने रंगे हाथ दोनो को पकड़ लिया । जिसके बाद ग्रामीणों ने दोनों का सर मुड़वाकर और जूता चप्पल का माला पहनाकर गाँव मे घुमाया गया।

ग्रामीणों का कहना था कि घुमाने का उद्देश्य यह था कि इसके बाद कोई गाँव मे इस तरह की गलती न करे।बाद में गाँव के मरर राम मुर्मू के निर्देश पर दोनों की आदिवासी रीतिरिवाज से शादी कर दी गई। शादी करवाने के बाद युवती को टेंपो में बैठाकर प्रेमी बिजली मिस्त्री सुरेंद्र राय के घर परोरा भेज दिया गया। इधर दूसरी लड़की के घर पहुँचने पर बिजली मिस्त्री के घर अलग से बबाल खड़ा हो गया, क्योंकि बिजली मिस्त्री सुरेंद्र राय पहले से शादी शुदा था ।

इधर इस घटना को लेकर थाना में किसी ने कोई आवेदन नहीं दिया है। वहीं अपनी प्रेमिका से मिलने के लिए बिजली मिस्त्री की यह हरकत से लोग अपनी हंसी नहीं रोक पा रहे है।

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

Leave a comment