11.4 C
London
Friday, May 24, 2024

स्वर्ण मंदिर में गुरु ग्रंथ साहिब की बेहुरमती की कोशिश, लोगों ने युवक को पीट-पीटकर मार डाला

- Advertisement -spot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_img

अमृतसर. अमृतसर के स्वर्ण मंदिर में शनिवार को श्री गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी करने की कोशिश करने वाले एक युवक की हत्या कर दी गई. जानकारी के मुताबिक युवक ने सचखंड साहिब के अंदर बने सुरक्षा घेरे को पार कर वहां रखी तलवार भी उठा ली थी, जिसके बाद वहां मौजूद सेवादारों ने उसे दबोच लिया. युवक की पहचान की पुष्टि नहीं की जा सकी है, हालांकि कथित तौर पर उसकी उम्र बीस साल के आसपास बताई जा रही है.

सेवादारों ने युवक को पकड़कर उसे तुरंत ही शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (एसजीपीसी) की टास्क फोर्स को सौंप दिया. द टाइम्स ऑफ इंडिया ने एक प्रत्यक्षदर्शी के हवाले से कहा कि युवक संगत के साथ दर्शन का इंतजार कर रहा था, लेकिन अचानक वह सुरक्षा रेलिंग पर चढ़ गया और श्री गुरु ग्रंथ साहिब के ‘सरूप’ के सामने रखी सोने की तलवार को उठाने की कोशिश करने लगा. एक अन्य चश्मदीद ने बताया कि आरोपी ने पास में रखी फूलों की पंखुड़ियों को लेने की भी कोशिश की.

युवक पर काबू पाने के बाद सेवादार उसे शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (एसजीपीसी) के कार्यालय में ले गए, जहाँ कथित तौर पर उसकी बुरी तरह पिटाई की गई. सोशल मीडिया पर जारी तस्वीरों में एक युवक फर्श पर बेहोश पड़ा हुआ दिख रहा है.

‘युवक की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई’
एक पुलिस अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर टीओआई को पुष्टि की कि युवक की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई है और उसका शव पुलिस को नहीं सौंपा गया, बल्कि सिविल अस्पताल में पड़ा हुआ था. पुलिस अधिकारी ने यह भी बताया कि युवक के पास से कोई दस्तावेज या पहचान पत्र नहीं मिला है.

- Advertisement -spot_imgspot_img
Jamil Khan
Jamil Khan
जमील ख़ान एक स्वतंत्र पत्रकार है जो ज़्यादातर मुस्लिम मुद्दों पर अपने लेख प्रकाशित करते है. मुख्य धारा की मीडिया में चलाये जा रहे मुस्लिम विरोधी मानसिकता को जवाब देने के लिए उन्होंने 2017 में रिपोर्टलूक न्यूज़ कंपनी की स्थापना कि थी। नीचे दिये गये सोशल मीडिया आइकॉन पर क्लिक कर आप उन्हें फॉलो कर सकते है और संपर्क साध सकते है

Latest news

- Advertisement -spot_img

Related news

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here