भाजपा के दो पूर्व नेताओं की पैगंबर मोहम्मद ( peace be upon him) को लेकर की गई कथित विवादास्पद टिप्पणी के खिलाफ सैकड़ों प्रदर्शनकारियों ने पश्चिम बंगाल के हावड़ा जिले में शुक्रवार को सड़कों को ब्लॉक कर विरोध प्रदर्शन किया। इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने भारतीय जनता पार्टी के दफ्तर में तोड़फोड़ के बाद आग लगा दी। लोगों ने हावड़ा-खड़गपुर रेल मार्ग पर दासनगर रेलवे स्टेशन के पास भी विरोध प्रदर्शन किया।

भाजपा दफ्तर में तोड़फोड़ और आग

पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि प्रदर्शनकारियों की धूलागढ़, पंचला और उलूबेरिया में पुलिस के साथ तब झड़प हुई जब उन्होंने राष्ट्रीय राजमार्ग छह की नाकेबंदी खुलवाने की कोशिश की। रिपोर्ट्स के मुताबिक, उलुबेरिया में बीजेपी के एक कार्यालय में तोड़फोड़ की गई और आग लगा दी गई। समाचार एजेंसी एएनआई द्वारा शेयर किए गए एक वीडियो में देखा जा सकता है कि भाजपा दफ्तर में तोड़फोड़ और आग के बाद सामान बिखरा पड़ा है। 

पुलिस ने किया लाठीचार्ज

एक प्रदर्शनकारी ने कहा, “भाजपा के दो नेताओं को उनकी धार्मिक भावनाओं को आहत करने वाली टिप्पणी के लिए फौरन गिरफ्तार किया जाना चाहिए।” अधिकारी ने कहा कि धूलागढ़ और पंचला में भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा, जहां प्रदर्शनकारियों ने इसके जवाब में पथराव किया, जिससे पास खड़ी कारों को नुकसान पहुंचा।

दक्षिण पूर्वी रेलवे के एक अधिकारी ने बताया कि प्रदर्शकारियों ने हावड़ा-खड़गपुर खंड पर दोपहर एक बजकर 22 मिनट पर फुलेश्वर और चेंगैल स्टेनशनों के बीच की पटरियों को अवरूद्ध कर दिया। बंगाल इमाम एसोसिएशन के अध्यक्ष मोहम्मद याहिया ने कहा कि संगठन ने भाजपा के पूर्व दो नेताओं की गिरफ्तारीकी मांग को लेकर समूचे राज्य में मस्जिदों के अंदर प्रदर्शन का आह्वान किया था। उन्होंने कहा कि प्रशासन सड़कों को अवरूद्ध करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए स्वतंत्र है।

भाजपा ने पैगंबर पर टिप्पणी को लेकर मुस्लिम देशों से तीखी प्रतिक्रिया आने के बाद पांच जून को नुपुर शर्मा को पार्टी से निलंबित कर दिया था और नवीन कुमार जिंदल को पार्टी से निष्कासित कर दिया था।

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

journalist | chief of editor and founder at reportlook media network

Leave a comment