12.1 C
London
Tuesday, February 20, 2024

जामिया में गोलियां चलाने वाले आतंकी सोच वाले किशोर ने दी मुस्लिम महिलाओं को अगवा करने की धमकी

- Advertisement -spot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_img

जामिया मिल्लिया इस्लामिया के पास पिछले साल सीएए विरोधी प्रदर्शनकारियों के एक समूह पर गोलियां चलाने वाले कतिथ नाबालिक ने रविवार को पटौदी में एक महापंचायत में हिस्सा लिया और अपनी आतंकी सोच का परिचय देते हुए विवादित भाषण बाजी की जहां उसने भीड़ को मुस्लिम महिलाओं का अपहरण करने के लिए उकसाया और कथित ”आतंकवादी मानसिकता” वालों को “चेतावनी” दी कि अगर वह “सीएए के समर्थन में जामिया जा सकता है” तो “पटौदी बहुत दूर नहीं है”।

महापंचायत में किशोर के भाषण का एक कथित वीडियो सोशल मीडिया पर कई लोगों द्वारा शेयर किया गया था। वीडियो में उसे यह कहते हुए सुना जा सकता है कि जब उन पर हमला होगा तो मुसलमान ‘राम राम’ के नारे लगाएंगे। महापंचायत में, जिसे धर्म परिवर्तन, ‘लव जिहाद’ और जनसंख्या को नियंत्रित करने के लिए एक कानून पर चर्चा करने के लिए बुलाया गया था, उसने लोगों से कहा कि अगर हिंदू महिलाओं को उठा लिया जाता है तो मुस्लिम महिलाओं का भी अपहरण किया जाए।

पिछले साल हुई शूटिंग की घटना का जिक्र करते हुए उसने कहा, “पटौदी से केवल इतनी सी चेतवानी देना चाहता हूं, उन… जिहादियों को, आतंकवादी मानसिकता के लोगों को, जब (मैं) जामिया जा सकता हूं सीएए के समर्थन में, तो पटौदी ज्यादा दूर नहीं है। ” उसने जय श्री राम के नारे के साथ अपना भाषण खत्म किया।

मालूम हो कि किशोर ने 30 जनवरी, 2020 को जामिया मिलिया इस्लामिया के पास सीएए विरोधी प्रदर्शनकारियों पर गोलियां चलाई थीं। उसने प्रदर्शनकारियों पर बंदूक तान दी थी और “ये लो आज़ादी”, “देश में जो रहना होगा वंदे मातरम कहना होगा ” और “दिल्ली पुलिस जिंदाबाद” के नारे लगाए । घटना में एक छात्र घायल हो गया। बाद में आरोपी को पुलिस ने पकड़ लिया था।

उसके खिलाफ आईपीसी की धारा 307 (हत्या का प्रयास) के तहत एफआईआ दर्ज की गई थी और उसे मौके से गिरफ्तार कर लिया गया था। अपराध शाखा के एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया, “बाद में उसे किशोर न्याय बोर्ड द्वारा सुधार गृह भेज दिया गया, जहाँ से वह कुछ महीनों के बाद बाहर आया। हमें हाल की घटना के बारे में औपचारिक शिकायत नहीं मिली है और हम मामले को देख रहे हैं। ”

सोमवार को द इंडियन एक्सप्रेस से बात करते हुए, वरुण सिंगला, डीसीपी (मानेसर) ने कहा, “हमें महापंचायत के किसी भी भाषण के बारे में कोई शिकायत नहीं मिली है, कोई एफआईआर दर्ज नहीं की गई है।” उसी महापंचायत में, भाजपा प्रवक्ता और करणी सेना के अध्यक्ष सूरज पाल अमू ने भी एक भड़काऊ भाषण दिया था, जिसमें दर्शकों से “इतिहास बनाने” और “इतिहास न बनने” का आह्वान किया गया था ताकि “कोई तैमूर, औरंगजेब, बाबर और हुमायूँ पैदा न हो”।

अमू ने कहा, “अगर भारत हमारी मां है, तो हम पाकिस्तान के पिता हैं, और हम यहां पाकिस्तानियों को किराए पर घर नहीं देंगे..उन्हें इस देश से हटा दें, यह प्रस्ताव पास करें।” नेता ने कहा, “अगर आप इस देश में इतिहास बनाना चाहते हैं, अगर आप इतिहास नहीं बनना चाहते हैं, तो न तो तैमूर पैदा होंगे, न ही औरंगजेब, बाबर, हुमायूँ पैदा होंगे। हम 100 करोड़ हैं, और वे 20 करोड़ हैं।”

- Advertisement -spot_imgspot_img
Jamil Khan
Jamil Khan
जमील ख़ान एक स्वतंत्र पत्रकार है जो ज़्यादातर मुस्लिम मुद्दों पर अपने लेख प्रकाशित करते है. मुख्य धारा की मीडिया में चलाये जा रहे मुस्लिम विरोधी मानसिकता को जवाब देने के लिए उन्होंने 2017 में रिपोर्टलूक न्यूज़ कंपनी की स्थापना कि थी। नीचे दिये गये सोशल मीडिया आइकॉन पर क्लिक कर आप उन्हें फॉलो कर सकते है और संपर्क साध सकते है

Latest news

- Advertisement -spot_img

Related news

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here