अफगानिस्तान की तालिबान सरकार के गृह मंत्री सिराजुद्दीन हक्कानी पहली बार दुनिया के सामने आए है। संयुक्त राष्ट्र द्वारा नामित आतंकवादी अमेरिका का मोस्ट वांटेड आतंकी है जिस पर अमेरिका ने एक करोड़ डॉलर का इनाम तक रखा है।

अफगानिस्तान के इस्लामिक अमीरात के प्रवक्ता जबीहुल्ला मुजाहिद द्वारा ट्वीट की गई तस्वीर में पहली बार हक्कानी का चेहरा स्पष्ट रूप से दिखाई दे रहा है। इस तस्वीर के साथ मुजाहिद ने कैप्शन दिया, ‘”इस्लामिक अमीरात के गृह मंत्री, खलीफा साहिब सिराजुद्दीन हक्कानी हाफिजुल्ला ने राष्ट्रीय पुलिस के स्नातक समारोह का उद्घाटन किया।’

अमेरिका के पास तक नहीं थी पूरी तस्वीर

यहां तक ​​कि अमेरिका, जिसने डेढ़ दशक से अधिक समय तक हक्कानी का पीछा किया था उसके पास भी सिराजुद्दीन हक्कानी की केवल एक आधी-अधूरी तस्वीर है जिसमें हक्कानी का चेहरा एक शॉल में आधा ढका हुआ है। भारत ने हक्कानी पर अपने दूतावास सहित अफगानिस्तान में अपनी संपत्तियों पर कई हमलों का मास्टरमाइंड बताया था, उसके पास भी चेहरे वाली कोई तस्वीर नहीं थी।

अभी तक नहीं जारी हुई थी फोटो

दिलचस्प बात यह है कि सितंबर 2021 में हक्कानी के सरकार का हिस्सा बनने के बाद भी तालिबान ने उसे जारी की गई किसी भी प्रचार सामग्री से दूर रखने का हर संभव प्रयास किया। पिछले साल अक्टूबर में काबुल के इंटरकांटिनेंटल होटल में तालिबान की बैठक के बाद जारी तस्वीरों की सीरीज में हक्कानी का चेहरा या तो गुलदस्ते से छिपा हुआ था या जानबूझकर धुंधला कर दिया था। इससे पहले, उनकी तस्वीरें केवल पीछे से खींची जाती रही हैं।

डॉन की रिपोर्ट के अनुसार, पुलिस परेड में हक्कानी तालिबान के अन्य वरिष्ठ अधिकारियों जैसे पोशाक पहने हुए थे। उनकी दाढ़ी बहुत लंबी है, सिर पर काली पगड़ी है और कंधे पर सफेद शॉल ओढ़े हुए थे। हक्कानी ने नागरिकों की आत्महत्या और अमेरिकी बलों पर किए गए सबसे कुख्यात हमलों की बार-बार प्रशंसा की है। तालिबान के नेतृत्व वाले प्रशासन ने पिछले साल अगस्त के मध्य में काबुल पर नियंत्रण कर लिया था।

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

journalist | chief of editor and founder at reportlook media network

Leave a comment