19.1 C
Delhi
Wednesday, November 30, 2022
No menu items!

T20 World Cup में मैच से पहले ही तय होगा नतीजा, जानिए क्या है जीत का फॉर्मूला?

- Advertisement -
- Advertisement -

ऑस्ट्रेलिया में टी20 वर्ल्ड कप का आगाज होने में अब ज्यादा वक्त नहीं बचा है. क्वालिफाइंग राउंड की शुरुआत 16 अक्टूबर से हो रही है और सुपर 12 राउंड का आगाज 22 अक्टूबर से होने वाला है. इस टूर्नामेंट को जीतने के कई दावेदार हैं. जिसमें मेजबान ऑस्ट्रेलिया, भारत, इंग्लैंड शामिल हैं. ये तीनों ही टीमें काफी संतुलित और मजबूत हैं लेकिन टी20 वर्ल्ड कप में टीम की मजबूती से ज्यादा कुछ और चीजों की भी जरूरत है जिसमें एक बड़ा फैक्टर है टॉस. टी20 क्रिकेट में टॉस की बहुत अहम भूमिका होती है क्योंकि जो टीम सिक्के की बाजी जीतती है वो हालात के मुताबिक फैसला लेती है और इससे उसे फायदा जरूर होता है.

टी20 क्रिकेट की बात करें तो पिछले एक साल में टीमों ने टॉस जीतकर अकसर लक्ष्य का पीछा करना मुनासिब समझा है और इसका उन्हें फायदा भी हुआ है. ऑस्ट्रेलिया में भी टॉस जीतने वाली टीमों की प्राथमिकता पहले फील्डिंग करना होगी और पहले बल्लेबाजी करने वाली टीम के लिए मैच जीतना एक अलग लेवल का चैलेंज होगा. आइए आपको बताते हैं कि पिछले एक साल में टी20 क्रिकेट में कैसे चेज़ करने वाली टीम को फायदा हुआ है.

- Advertisement -

टीमों को चेज़ पसंद है

पिछले एक साल की बात करें तो टॉप 11 टीमों को चेज़ करते हुए ज्यादा जीत मिली है. पिछले एक साल में कुल 74 में से 51 मैचों में चेज़ करने वाली टीम जीती है. लेकिन इसमें ड्यू का बड़ा रोल रहा है. लेकिन ऑस्ट्रेलिया में ड्यू एक बड़ा कारण नहीं है. पिछले 5 सालों में वहां 13 टीमों ने पहले फील्डिंग करते हुए मैच जीते हैं और 9 मैच पहले बल्लेबाजी करने वाली टीम ने जीते हैं. लेकिन अगर टी20 वर्ल्ड कप के खिताबी मुकाबलों की बात करें तो 7 में से 5 बार चेज़ करने वाली टीम को जीत मिली है. पिछले टी20 वर्ल्ड कप फाइनल में ऑस्ट्रेलिया ने पाकिस्तान को हराया था. उसने 173 रनों के बड़े स्कोर को चेज़ कर लिया था. दुबई में हुए सभी 10 मैचों को चेज़ करने वाली टीम ने जीता था.

भारतीय टीम की ताकत भी चेज़ है

अब टीम इंडिया की बात करें तो भारतीय क्रिकेट टीम को भी चेज़ करना रास आता है. पिछले एक साल में भारत ने 15 में से 13 मैच चेज़ करते हुए जीते हैं. मतलब उसका जीत प्रतिशत 90 फीसदी से भी ज्यादा है. भारत की गेंदबाजी थोड़ा कमजोर मानी जा रही है. जसप्रीत बुमराह की गैरमौजूदगी भी टीम इंडिया के लिए चिंता का विषय है. लेकिन टीम की बैटिंग लाइनअप में गहराई है. सूर्यकुमार, हार्दिक पंड्या, दिनेश कार्तिक चेज़ करते हुए सहज नजर आते हैं. हालांकि यहां बड़ी बात ये होगी कि आप टॉस जीतें और सिक्के की बाजी जीतना किस्मत की बात होती है. उम्मीद है कि रोहित शर्मा की किस्मत उनके साथ हो क्योंकि टीम तो सच में दमदार है.

- Advertisement -
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here