उत्तर प्रदेश के सुलतानपुर जिले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को काला झंडा दिखाने वाली कांग्रेस नेत्री रीता यादव को अज्ञात बदमाशों ने गोली मार दी. गोली कांग्रेस नेत्री के पैर में लगी.

उन्हें घायल अवस्था में सीएचसी में भर्ती कराया गया था. जहां से डॉक्टरों ने महिला को हायर सेंटर रेफर कर दिया. 

जानकारी के मुताबिक, हाल ही में सपा छोड़कर कांग्रेस पार्टी में शामिल होने वाली रीता यादव पोस्टर बैनर बनवाने सुल्तानपुर गईं थी. वहां से लौटकर वह अपने घर जा रही थीं. उसी समय हाइवे पर लंभुआ के पास तीन लोगों ने ओवर टेक करके उनकी गाड़ी को रोका और गाली देते हुए रीता को गोली मार दी. 

गोली उनके पैर में लगी और तब तक हमलावर बदमाश मौके से भाग निकले. इसके बाद घायल अवस्था में रीता यादव को पहले सीएचसी लंभुआ में भर्ती कराया गया. लेकिन बेहतर इलाज के लिए डॉक्टरों ने उन्हें सुलतानपुर जिला अस्पताल रेफर कर दिया. अभी हमलावारों के बारे में पुलिस छानबीन कर रही है.

लंभुआ इलाके के डीएसपी सतीश चंद शुक्ला ने मौके पर पहुंचकर जांच पड़ताल की और महिला का बयान दर्ज किया. उन्होंने टेलीफोन पर बताया कि मामला संज्ञान में है. रीता यादव के पैर में गोली लगी है. कार्रवाई शुरू कर दी गई है.

घायल रीता यादव ने बताया कि वो पोस्टर बैनर बनवाने सुल्तानपुर गई थीं. वहां से लौटकर घर जा रही थी. उसी समय हाइवे पर लंभुआ के पास तीन लोगों ने ओवर टेक करके उनकी बोलेरो को रोका और गाली देते हुए जान से मारने की धमकी. उनके ड्राइवर की कनपटी पर पिस्टल लगा दिया. इसी बात पर उन्होंने पिस्टल लगाने वाले को एक तमाचा मार दिया. तो उसने उन्हें गोली मार दी. इसके बाद हमलावर फरार हो गए.

बता दें कि 16 नवंबर 2021 को पीएम मोदी पूर्वांचल एक्सप्रेस वे का शुभारंभ करने जिले के कूरेभार स्थित अरवल कीरी में सभा कर रहे थे. तभी रीता यादव ने उन्हें काला झंडा दिखाया था. पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार करके जेल भेजा था और दो दिन बाद उनकी बेल हुई थी. उस घटना के एक महीने बाद तक वो सपा में रहीं, लेकिन सम्मान नहीं मिलने पर वो 17 दिसंबर 21 को लखनऊ में कांग्रेस जिलाध्यक्ष अभिषेक सिंह राणा से मिलकर कांग्रेस में शामिल हो गईं थी.

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

Leave a comment