इंग्लैंड के ऑलराउंडर मोइन अली (Moeen Ali) ने टेस्ट क्रिकेट से अचानक से संन्यास का ऐलान कर दिया है। मोइन ने इंग्लैंड टेस्ट टीम के कप्तान जो रूट औऱ हेड कोच सिल्वरवुड को इस बारे में जानकारी दे दी है। इस खबर को लेकर इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड ने भी पुष्टि कर दी है।

मोइन ने लिमिटेड ओवर क्रिकेट पर फोकस करने औऱ परिवार के संग समय बिताने के चलते ये फैसला लिया है। हालांकि, अपनी रिटायरमेंट के बाद उन्होंने एक चौंकाने वाला खुलासा भी किया है जिसमें उन्होंने कहा है कि वो भी बेन स्टोक्स की तरह एक अच्छे ऑलराउंडर बन सकते थे लेकिन एलिस्टर कुक के एक फैसले ने उनका करियर बदल कर रख दिया।

ईएसपीएन क्रिकइन्फो से बातचीत के दौरान उन्होंने कहा, “मुझे याद है जब हमने न्यूजीलैंड के खिलाफ 2015 में लॉर्ड्स टेस्ट खेला था और बेन स्टोक्स ने वहां 92 और 101 रनों की पारी खेलने के साथ-साथ 38 रन देकर 3 विकेट लिए थे। मैं उस समय नंबर 6 पर बल्लेबाजी कर रहा था और वो नंबर 8 पर था। मुझे लगता है कि मैंने बारबाडोस में छठे नंबर पर अपने आखिरी टेस्ट में 60 रन बनाए थे। लेकिन इसके बाद एलिस्टर कुक ने कहा, ‘देखो, मुझे पता है कि तुम अच्छा खेल रहे हो, लेकिन हम चीजों को बदलने जा रहे हैं क्योंकि हमें लगता है कि स्टोक्स इससे भी अच्छा कर सकते हैं।’ ये मेरे लिए काफी निराशाजनक था। मैं ये नहीं कहूंगा कि मुझे पता था कि ये सही फैसला था।”

आगे बोलते हुए अली ने कहा, “जाहिर तौर पर स्टोक्स एक अद्भुत खिलाड़ी निकला। लेकिन मुझे कभी-कभी लगता है, हो सकता है, अगर मुझे वहां थोड़ा और मौका दिया जाता, तो मैं स्टोक्स जैसा खिलाड़ी हो सकता था। मैं बल्लेबाज़ी ऑर्डर में और ऊपर बल्लेबाजी करना पसंद करता। अगर मुझे और मौके दिए गए होते तो शायद मैं काफी अच्छा बन सकता था।” 

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

The world is about to receive just the news it needs. My team and I believe that journalism can change the world and we are on a mission to ensure that this happens.

Leave a comment