नई दिल्ली, 4 अप्रैल। दक्षिण दिल्ली नगर निगम (SDMC) ने नवरात्रि के दिनों में मांस की दुकानें (Meat Shops) बंद करने का आदेश जारी किया है। सोमवार को साउथ नगर निगम की ओर से कहा गया मां दुर्गा को समर्पित नवरात्रि (Navratri) की शुभ घड़ी में दिल्ली में मांस की दुकानें बंद होनी चाहिए।

नवरात्रि के दिनों में भक्त मांसाहारी भोजन और शराब (Liquer) के सेवन से दूर रहते हैं।

नगर निगम (SDMC) की ओर कहा गया है कि जन भावनाओं को ध्यान में रखते हुए नवरात्रि (Navratri) के दिनों में मांस की दुकानें (Meet Shops) बंद करने की कार्रवाई का आदेश दिया गया है। दक्षिणी दिल्ली (South Delhi) में 2 अप्रैल से 11 अप्रैल तक नवरात्रि पर्व के 9 दिवसीय अवधि के दौरान मांस की दुकानें बंद रहेंगी।

99 प्रतिशत परिवार 9 दिन लहसुन तक नहीं खाते: मेयर

दक्षिणी दिल्ली के मेयर ने कहा कि उन्हें इस दौरान एक काफी परेशानी होती है। साथ ही मंदिरों में विशेष पूजा पाठ का कार्यक्रम होता है। नवरात्रि के दिनों में लोग अपने आहार को लेकर विशेष परहेज करते हैं। इन दिनों खाने में प्याज और लहसुन का उपयोग भी करने से दूर रहते हैं। ऐसे में मंदिर या अपने आसपास मांस को खुले या पास में बेचे जाने से उन्हें असहजता का अनुभव होता है। महापौर ने आगे कहा कि नवरात्रि के दौरान दिल्ली में 99 फीसदी घरों में लोग खाने में लहसुन और प्याज का उपयोग तक नहीं करते हैं। इसलिए हमने फैसला किया है कि दक्षिण एमसीडी में कोई मांस की दुकान नहीं खुलेंगी। यह आदेश कल से लागू होगा। उल्लंघन करने वालों पर जुर्माना लगेगा।

एसडीएमसी के महापौर मुक्केश सूर्यन ने कहा है कि इस कार्रवाई का अनुपालन कराने के लिए सभी आवश्यक निर्देश अधिकारियों को जारी किए जाएंगे। एसडीएमसी के महापौर ने कहा कि नवरात्रि के 9 दिनों में लोग मां दुर्गा के 9 रूपों की पूजा करते हैं। जब वे बाहर निकलते हैं और मांस की दुकानों में आते हैं तो भक्तों की धार्मिक भावनाएं प्रभावित होती हैं।

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

journalist | chief of editor and founder at reportlook media network

Leave a comment