देश में इन दिनों लाउडस्पीकर और हनुमान चालीसा विवाद छाया हुआ है. राजनीतिक गलियारों में हनुमान चालीसा और लाउडस्पीकर पर जमकर सियासत हो रही है. हर कोई इस कंट्रोवर्सी पर अपना पक्ष रख रहा है. अब बॉलीवुड एक्टर सोनू सूद (Sonu Sood) ने भी इस मामले पर अपनी प्रतिक्रिया दी है.

क्या बोले सोनू सूद?

बॉलीवुड एक्टर सोनू सूद (Sonu Sood) ने सभी को मिलकर रहने की अपील की है. उन्होंने अपनी बात रखते हुए कोरोना काल का जिक्र किया है. वे कहते हैं- लाउडस्पीकर और हनुमान चालीसा विवाद पर दुख है और जिस तरह से लोग अब एक-दूसरे के खिलाफ खड़े होकर जहर उगल रहे हैं, उसे देखकर दिल टूटता है. पिछले ढाई सालों में हम सभी ने मिलकर कोरोना वायरस के खिलाफ जंग लड़ी.

राजनीतिक दलों ने भी कंधों से कंधा मिलाकर इस महामारी का सामना किया. कोरोना की पहली और दूसरी लहर में, जब सभी कोरोना मरीजों को ऑक्सीजन की जरूरत थी, किसी ने भी धर्म की चिंता नहीं की थी. कोरोना के खतरे ने हमारे देश को एक कर दिया था. धर्म से परे हमारे रिश्ते अटूट बंधन में बंध गए थे.”

सोनू सूद की नेताओं से अपील

सोनू सूद ने सभी राजनीतिक पार्टियों से अपील करते हुए कहा- ये वो समय है जब हमें बेहतर भारत के लिए साथ आना होगा. हमें धर्म और जाति की सीमाओं को तोड़ना होगा. ताकि हम मानवीय आधार पर योगदान कर सकें. अगर हम धर्म से परे एकसाथ खड़े होते हैं तो लाउडस्पीकर विवाद अपने आप खत्म हो जाएगा. मानवता, भाईचारा समाज में गूंजेगा. सोनू सूद ने ये बयान पुणे में JITO Connect 2022 समिट में दिया. 

सोनू सूद (Sonu Sood) ने देश में चल रहे Loudspeaker & Hanuman Chalisa Controversy पर पहली बार रिएक्ट किया है. वे किसी भी सामाजिक और पॉलिटिकल मैटर पर अपनी राय रखने से चूकते नहीं हैं. सोनू सूद ने कोरोना काल में गरीबों की काफी मदद की थी. इसकी वजह से सोनू सूद को मसीहा का टैग मिला. सोनू सूद अब भी लोगों की मदद करते रहते हैं. लोग उन्हें ट्वीट या पर्सनल मैसेज कर मदद की गुहार लगाते हैं. 

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

journalist | chief of editor and founder at reportlook media network

Leave a comment