5.5 C
London
Saturday, March 2, 2024

हथियार छोड़कर भाग रहे यूक्रेन के सैनिक, जल्दी पूरा देश कर देगा सरेंडर : रूस

- Advertisement -spot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_img

यूक्रेन (Ukraine) पर जारी रूसी (Russia) हमले के बीच एक और बड़ी खबर सामने आ रही है. रूस की ओर से दावा किया जा रहा है कि यूक्रेन जल्द ही सरेंडर करने वाला है. रूसी रक्षा मंत्रालय ने खुफिया डेटा का हवाला देते हुए बताया है कि यूक्रेनी सेना (Ukraine Army) की इकाइयां और सैनिक बड़े पैमाने पर अपनी पोजिशन्स छोड़ रहे हैं और हथियार फेंक कर भाग रहे हैं. वहीं जिन सेनाओं ने अपने हथियार रखें हैं वह हमलों के अधीन नहीं है.

दरअसल रूस के राष्ट्रपति पुतिन ने गुरुवार को यूक्रेन पर सैन्य हमले की घोषणा की थी जिसके बाद से यूक्रेन पर ताबड़तोड़ हमलों का दौर जारी है. इस बीच खबर आई थी कि यूक्रेन ने भी जवाबी कार्रवाई में  5 रूसी फाइटर जेट को मार गिराया है. साथ ही एक हेलिकॉप्टर भी मार गिराया है. हालांकि रूसी संघ के रक्षा मंत्रालय ने इन दावों को खारिज करते हुए कहा कि यूक्रेन क्षेत्र में कथित तौर पर मार गिराए गए एक रूसी विमान के बारे में विदेशी मीडिया की जानकारी वास्तविकता के अनुरूप नहीं है.

इसी के साथ रूसी रक्षा मंत्रालय ने दावा किया है कि खुफिया डेटा से पता चलता है कि यूक्रेनी सेना की इकाइया और सैनिक बड़े पैमाने पर अपने पोजिशन्स को छोड़ रहे हैं, अपने हथियार फेंक रहे हैं.

यूक्रेन के 11 शहरों को बनाया गया निशाना

बता दें, रूसी सैनिकों ने गुरुवार को यूक्रेन पर हमला किया और एक साथ 11 शहरों को निशाना बनाया.  इस हमले की अंतरराष्ट्रीय स्तर पर निंदा और प्रतिबंधों को नजरंदाज करते हुए रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने अन्य देशों को चेतावनी दी कि रूसी कार्रवाई में किसी प्रकार के हस्तक्षेप के प्रयास ‘‘के ऐसे परिणाम होंगे,जो उन्होंने पहले कभी नहीं देखे होंगे.”

अल-सुबह कीव, खार्कीव, ओडेसा एवं यूक्रेन के अन्य शहरों में बड़े धमाकों की आवाज सुनी गई. वहीं, दुनिया के कई देशों के नेताओं ने रूसी आक्रमण की निंदा की जिससे बड़ी संख्या में जानमाल का नुकसान हो सकता है और यह (हमला) यूक्रेन की निर्वाचित सरकार को अपदस्थ कर सकता है.

यूक्रेन में मार्शल लॉ की घोषणा

वहीं, रूस के सैन्य हमले शुरू करने पर, यूक्रेन के राष्ट्रपति ब्लोदीमिर जेलेनस्की ने देश में ‘मार्शल लॉ’ की घोषणा की और नागरिकों से नहीं घबराने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि रूस ने यूक्रेन के सैन्य आधारभूत ढांचे को निशाना बनाया है और देशभर में धमाके सुने गए हैं ।

जेलेनस्की ने कहा कि उन्होंने अभी-अभी अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन से बात की है और अमेरिका, यूक्रेन के लिये अंतररष्ट्रीय समर्थन जुटा रहा है. इस बीच, अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने कहा है कि नये प्रतिबंध रूस को उसके आक्रमण के लिये दंडित करने के लिए हैं और अंतरराष्ट्रीय समुदाय को इसकी कई सप्ताह से आशंका थी लेकिन कूटनीति के माध्यम से इसे रोका नहीं जा सका.  इससे पहले, रूसी राष्ट्रपति पुतिन ने टेलीविजन पर अपने संबोधन में इस कार्रवाई को जायज ठहराया.

पुतिन बोले- नागरिकों की सुरक्षा के लिए जरूरी था हमला

पुतिन ने कहा कि यह हमला पूर्वी यूक्रेन में नागरिकों की सुरक्षा के लिये जरूरी था. हालांकि इस दावे को लेकर अमेरिका ने पहले ही आशंका व्यक्त की थी कि रूस हमले को गलत तरीके से जायज ठहराने का प्रयास करेगा.

पुतिन ने अमेरिका और उसके सहयोगियों पर यूक्रेन को उत्तर अटलांटिक संधि संगठन (नाटो) में शामिल करने से रोकने और मास्को को सुरक्षा गारंटी देने की रूस की मांग को नजरंदाज करने का आरोप लगाया.  उन्होंने कहा कि यूक्रेन द्वारा पेश किए जा रहे खतरों के जवाब में यह कार्रवाई की जा रही है.

उन्होंने कहा कि रूस का लक्ष्य यूक्रेन पर कब्जा करना नहीं है, बल्कि क्षेत्र को सैन्य प्रभाव से मुक्त बनाना एवं अपराध करने वालों को न्याय के कटघरे में खड़ा करना है.

पुतिन ने अन्य देशों को आगाह किया कि रूसी कार्रवाई में किसी प्रकार के हस्तक्षेप के प्रयास ‘‘के ऐसे परिणाम होंगे,जो उन्होंने पहले कभी नहीं देखे होंगे. ’’

वहीं, अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने एक लिखित बयान में कहा, ‘‘ रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने एक पूर्व नियोजित युद्ध को चुना है, जिसका लोगों के जीवन पर विनाशकारी प्रभाव होगा. इस हमले में लोगों की मौत और तबाही के लिए केवल रूस जिम्मेदार होगा . ’’

- Advertisement -spot_imgspot_img
Jamil Khan
Jamil Khanhttps://reportlook.com/
journalist | chief of editor and founder at reportlook media network

Latest news

- Advertisement -spot_img

Related news

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here