सिद्धू मूसेवाला की हत्या की गुत्थी सुलझाने में जुटी पंजाब पुलिस को आज एक बड़ी कामयाबी मिली। दिल्ली कोर्ट ने पंजाब पुलिस को तिहाड़ जेल में बंद गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई को गिरफ्तार करने और पंजाब ले जाने की अर्जी को अनुमति दे दी। आज दिल्ली कोर्ट में सुनवाई के दौरान पंजाब पुलिस ने वकील ने लॉरेंस बिश्नोई को रिमांड पर लेने संबंधी कई दलील दिए। जिसके बाद दिल्ली कोर्ट ने उसे गिरफ्तार करने की इजाजत दे दी।

सुनवाई के दौरान पंजाब पुलिस ने सोशल मीडिया पर चले एक वीडियो का जिक्र करते हुए कहा कि सिद्धू मूसेवाला की हत्या लॉरेंस बिश्नोई ने गोल्डी बराड़ के साथ मिलकर करवाई। बता दें कि सिद्धू की हत्या के बाद कनाडा में बैठे गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने सोशल मीडिया पर पोस्ट कर इस हत्या की जिम्मेदारी ली थी। उसने कहा था कि विक्रमजीत सिंह की हत्या का बदला लेने के लिए उसने लॉरेंस बिश्नोई के साथ मिलकर सिद्धू मूसेवाला की हत्या करवाई।

मामले की जांच में जुटी पंजाब पुलिस की एसआईटी बिश्नोई को रिमांड पर लेने की कोशिश कर रही थी। दूसरी ओर लॉरेंस बिश्नोई के वकील ने फेक एनकाउंटर में लॉरेंस बिश्नोई के मारे जाने की बात कहते हुए पंजाब नहीं भेजे जाने की दलील दी थी। इस पर पंजाब पुलिस के वकील ने कहा कि पंजाब पुलिस लॉरेंस बिश्नोई की सुरक्षा की पूरी जिम्मेदारी लेगी।

पंजाब पुलिस के वकील ने कोर्ट में बताया कि लॉरेंस बिश्नोई को पंजाब ले जाने के दौरान पंजाब पुलिस के लगभग 50 पुलिस कर्मी, दो बुलेट प्रूफ गाड़ी के साथ-साथ 12 और गाड़ियां रहेगी। लॉरेंस बिश्नोई को बुलेट प्रूफ गाड़ी में बिठाया जाएगा। 12 गाड़ियों पर सवार पंजाब पुलिस के जवान रूट क्लियर करेंगे। इसके साथ साथ पूरे रूट की विडियोग्राफी भी की जाएगी।

बताते चले कि बीते दिनों लॉरेंस बिश्नोई में कस्टडी में लेने और पूछताछ के बाद दिल्ली पुलिस ने भी यह दावा किया था कि सिद्धू मूसेवाला की हत्या में बिश्नोई का हाथ है। दूसरी ओर इस मामले की जांच में जुटी पुलिस टीम केकड़ा, महाकाल सहित अन्य शूटरों को गिरफ्तार कर चुकी है। जिन्होंने पूछताछ में लॉरेंस बिश्नोई के शामिल होने की पुष्टि की थी।

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

journalist | chief of editor and founder at reportlook media network

Leave a comment