12.2 C
London
Tuesday, May 28, 2024

हाजी याकूब पर शिकंजा, गैंगस्टर ऐक्ट लगाने की तैयारी में यूपी पुलिस 

- Advertisement -spot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_img

बसपा नेता और पूर्व मंत्री हाजी याकूब कुरैशी की घेराबंदी तेज कर दी गई है। पुलिस प्रशासन अब गैंगस्टर की तैयारी में है और इसके लिए याकूब और उनके परिवार का पूरा आपराधिक रिकॉर्ड निकलवाया जा रहा है। इस प्रकरण में याकूब कुरैशी के खिलाफ नौ मुकदमों की जानकारी पुलिस को मिली है। इनकी रिपोर्ट एसएसपी को भेजी गई है। बाकी कार्रवाई भी प्रचलित है।

याकूब का खरखौदा के अलीपुर में अलफहीम मीटेक्स प्राइवेट लिमिटेड नाम से मीट प्लांट है। इस प्लांट में अवैध रूप से मीट का भंडारण और पैकिंग कराई जा रही थी। बुधवार रात करीब तीन बजे से पुलिस टीम कार्रवाई में लगी और दबिश दी गई। पुलिस ने हाजी याकूब, उनके दोनों बेटों और पत्नी समेत 14 आरोपियों के खिलाफ कई धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है। इसके बाद याकूब और उसके परिवार के खिलाफ पुलिस-प्रशासन घेराबंदी में लगा है। याकूब कुरैशी के खिलाफ गैंगस्टर की तैयारी की जा रही है। इसके लिए पुलिस ने याकूब कुरैशी और परिवार के खिलाफ दर्ज तमाम मामलों की जानकारी जुटानी शुरू कर दी है।

याकूब के खिलाफ 1986 में पहला मुकदमा दर्ज बताया गया है। इसके अलावा हत्या के प्रयास समेत कई मुकदमे याकूब के खिलाफ हैं। कुल नौ मुकदमे रिकॉर्ड में मिले हैं। याकूब के बच्चों और पत्नी का भी रिकॉर्ड खंगाला जा रहा है। पूरी लिस्ट बनाने के बाद इनके खिलाफ गैंगस्टर की कार्रवाई की जाएगी।

2017 में आखिरी मुकदमा
हाजी याकूब के खिलाफ 2017 में आखिरी मुकदमा लिसाड़ी गेट थाने में लिखा गया। इसके अलावा तीन मुकदमे कोतवाली, दो मुकदमे देहली गेट और चार मुकदमे लिसाड़ी गेट में दर्ज हैं। इनमें से कुछ में याकूब दोष मुक्त हो चुके हैं, जिनकी रिपोर्ट भी पुलिस अधिकारियों को भेजी गई है।

याकूब कुरैशी के बेटे इमरान के नाम पर मीट प्लांट बताया गया है। इस मीट प्लांट में अवैध रूप से मीट पैकिंग और सप्लाई किया जा रहा था। याकूब, उसके बेटों और पत्नी समेत कुल 14 आरोपियों पर मुकदमा दर्ज किया। गैंगस्टर की कार्रवाई कराई जाएगी, जिसके लिए पुलिस ने प्रक्रिया शुरू कर दी है। – प्रभाकर चौधरी, एसएसपी मेरठ।

10 को भेजा गया जेल
खरखौदा पुलिस ने हाजी याकूब कुरैशी के मीट प्लांट से जिन 10 लोगों को गिरफ्तार किया, उन्हें शुक्रवार को जेल भेज दिया गया। कुल 14 के खिलाफ पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया है। बरामद मीट का सैंपल जांच के लिए लैब भेजा गया है।

पुंछ निवासी कर्मचारियों की जांच शुरू: पुलिस ने जिन 10 आरोपियों की धरपकड़ की, उनमें से चार पुंछ जम्मू-कश्मीर और दो बिहार के हैं। पुंछ निवासी आरोपियों के संबंध में पुलिस ने छानबीन शुरू कर दी है। संबंधित थाना पुलिस से रिकॉर्ड मांगा है। एएसपी किठौर चंद्रकांत मीणा को जांच दी है।

ये हुए थे गिरफ्तार: 1. जमील निवासी नीचा सद्दीकनगर, लिसाड़ी गेट। 2. गजेन्द्र सिंह तोमर निवासी दिवियापुर, ओरैया। 3. फिरोज नरहाड़ा, खरखौदा। 4. रहीश निवासी फिरोज नगर, लिसाड़ी गेट। 5. साकिब ग्राम माहरा, जिला पुंछ, कश्मीर। 6. सुल्तान सलाउद्दीन निवासी इस्लामाबाद, लिसाड़ी गेट। 7. शाहनवाज अहमद खान निवासी पुलेरा, पुंछ, जम्मू कश्मीर। 8. मंजूर आलम ग्राम चकरदा, थाना अरनिया, बिहार। 9. मुफीद हुसैन निवासी ग्राम माडा, जिला पुंछ, जम्मू कश्मीर। 10. इलियास अहमद निवासी ग्राम पुंछ।

यह हुआ बरामद : प्रोसेसड मीट पैकेट्स – 2 लाख 40 हजार 438 किलोग्राम, कटा हुआ मीट -6 हजार 720 किग्रा., अवशेष और हड्डी- 1250 किग्रा.।

- Advertisement -spot_imgspot_img
Jamil Khan
Jamil Khanhttps://reportlook.com/
journalist | chief of editor and founder at reportlook media network

Latest news

- Advertisement -spot_img

Related news

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here