ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज स्पिनर शेन वॉर्न का निधन हाल ही में हार्ट अटैक से हुआ। 52 साल की उम्र में इस लेग स्पिनर ने आखिरी सांस ली। वॉर्न के देहांत की खबर सुन पूरा खेल जगत सकते में है और शोक में डूबा हुआ है, मगर इसी बीच भारतीय पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर ने उन पर ऐसा कमेंट कर दिया जिसकी वजह से उन्हें आलोचना का शिकार होना पड़ा। दरअसल उन्होंने श्रीलंका के मुथैया मुरलीधरन और भारतीय स्पिनर्स को शेन वॉर्न से बेहतर बताया।

इंडिया टुडे के शो के दौरान जब सुनील गावस्कर से पूछा गया कि क्या वे मानते हैं कि वॉर्न क्रिकेट के महानतम स्पिन गेंदबाज हैं। इसके जवाब में उन्होंने कहा “नहीं, मैं यह नहीं कहूंगा। मेरे लिए भारतीय स्पिनर और मुथैया मुरलीधरन शेन वॉर्न से बेहतर थे। शेन वॉर्न के भारत के खिलाफ रिकॉर्ड देखें, वह काफी साधारण है, उन्होंने भारत में सिर्फ एक बार 5 विकेट हॉल नागपुर में लिया। क्योंकि उन्हें भारतीय खिलाड़ियों के खिलाफ ज्यादा सफलता नहीं मिली, जो स्पिन के बहुत अच्छे खिलाड़ी थे, मुझे नहीं लगता कि मैं उन्हें सबसे महान कहूंगा।”

उन्होंने आगे कहा “मुथैया मुरलीधरन को भारत के खिलाफ एक बड़ी सफलता के साथ, मैं अपनी किताब में उन्हें वॉर्न से ऊपर रखूंगा।”

गावस्कर के इस कमेंट से किसी को इतनी परेशानी नहीं है मगर जिस समय पर उनका यह कमेंट आया है वह विवाद का मुद्दा बन गया है।

शेन वॉर्न 708 विकेट के साथ टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाजों की सूची में दूसरे स्थान पर है। इस लिस्ट में टॉप पर श्रीलंका के महान स्पिनर मुथैया मुरलीधरन हैं जिनके नाम क्रिकेट के सबसे लंबे फॉर्मेट में 800 विकेट दर्ज है।

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

journalist | chief of editor and founder at reportlook media network

Leave a comment