राजस्थान में एक बार फिर धार्मिक स्थल, स्कूल-कालेज बंद हो सकते हैं। सीएम की बुलाई गई वीसी में विभिन्र राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों ने स्कूल-कालेज बंद करने का सुझाव दिया है।

सीएम गहलोत मुख्यमंत्री निवास से विभिन्न धर्म गुरुओं और गैर सरकारी संगठनों के साथ बैठक कर रहे हैं। राजधानी जयपुर समेत पूरे राजस्थान में कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं। इसे लेकर बसपा, माकपा और भाकपा के प्रतिनिधियों ने स्कूल और कालेज बंद करने के सुझाव दिए है। सीएम गहलोत फिलहाल वीसी के जरिए बैठक कर रहे हैं। राजस्थान में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच सीएम गहलोत ने मुख्यमंत्री आवास पर विभिन्न धर्म गुरुओं की 4.30 बजे बैठक बुलाई थी, लेकिन बैठक 5.30 बजे शरू हुई। बैठक में विभिन्न धर्मगुरु मौजूद है। बैठक में कोरोना संक्रमण पर किस तरह से काबू पाया जाए इसकों लेकर धर्मगुरुओं से सुझाव लिया जा रहा है। माना जा रहा है कि गहलोत सरकार शैक्षणिक संस्थानों पर पाबंदियां बढ़ा सकती है। सीएम गहलोत ने संकेत दिए हैं कि 3 जनवरी के बाद सख्ती की जाएगी।पिछले साल 2 जनवरी को आई थी गाइडलाइंसयह भी अजीब संयोग है कि पिछले साल 2 जनवरी 2021 को गहलोत सरकार ने कोरोना को लेकर नई गाइडलाइंस जारी की थी। गाइडलाइंस के मुताबिक, राजस्थान में स्कूल और कोचिंग संस्थान 15 जनवरी तक बंद कर दिए थे। जबकि 13 जिलों में रात्रिकालीन कर्फ्यू रात्रि 8 बजे से सुबह 6 बजे तक कर दिया था। माना जा रहा है कि गहलोत सरकार 2 जनवरी को ही देर रात गाइडलाइंस जारी कर सकती है। राजधानी जयपुर में कम्युनिटी स्प्रेड का खतरा बड़ रहा है उसके मद्देनजन रविवार देर रात राज्य का गृह विभाग धार्मिक स्थलों को लेकर नई गाइडलाइंस जारी कर सकता है।सीएम बोले- सहमति से लिया जाएगा निर्णयसीएम गहलोत ने कहा कि प्रदेश में स्कूल और धार्मिक स्थल बंद करने का निर्णय सभी की सलाह से लिया जाएगा। इसलिए यह बैठक बुलाई गई है। सीएम ने कहा कि पिछले साल भी जो पाबंदियां लगाई गई थी, सभी सलाह करने का बाद ही लगाई गई थी। सीएम ने कहा कि पिछले साल भी धर्म गुरुओं से राय के बाद ही धार्मिक स्थल बंद करने का निर्णय लिया था। इस बार भी राय ली जा रही है। सीएम गहलोत विभिन्न सामाजिक संगठनों से कोरोना की लड़ाई में राज्य सरकार से सहयोग की अपील की है। कोरोना की दूसरी लहर में विभिन्न सामाजिक संगठनों ने सराहनीय कार्य किया था। सीएम ने कहा कि एक बार फिर गैर सरकारी संगठनों के प्रतिनिधियों से लोगों की मदद करने के लिए आगे आए।

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

Leave a comment